लखनऊ 18 जून 2017, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने योगी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि अब उत्तर प्रदेश भी श्वेत क्रांन्ति की ओर अग्रसर है। प्रदेश में दूध के उत्पादन, शोध, विकास एवं बिक्री के लिए सकारात्मक माहौल तैयार हो रहा है। अभी 360 करोड रूपये के लगभग का दूध विभिन्न दुग्ध संघ उत्पादकों से सीधे खरीदतें है। आने वाले वर्षो में इसे लगभग 10 गुना बढाकर 3 हजार 5 सौ करोड़ रूपये किया जाएगा।

श्री शुक्ल ने बताया उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा ब्राण्ड पराग एक समय पर 59 दुग्ध संघों के साथ पूरे प्रदेश भर में काम करता था, लेकिन पूर्ववर्ती सरकारों की कमजोर इच्छा शक्ति के कारण अब 18 ही बचें है। जिनमें से अधिकांश दम तोड़ रहे है। मायावती ने अपने शासनकाल के दौरान केवल कागजों पर काम किया और भ्रष्टाचार से अकूत सम्पत्ति बनाई। वहीं अखिलेश ने पूरे 5 साल पत्थर लगाने और फोटो खिचानें में समय बीता दिया।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा योगी सरकार प्रदेश के दुग्ध संघों को पुनः जीवित करने जा रही है। जिसके लिए गोरखपुर में बनने वाले दुग्ध प्रसंस्करण प्लांट की क्षमता को एक लाख से बढ़ाकर तीन लाख करेगी। बनारस में बन रहे दुग्ध प्रसंस्करण प्लांट की क्षमता को 4 लाख से बढाकर 6 लाख करेगी। इसके अतिरिक्त प्रदेश के अन्य दुग्ध प्रसंस्करण प्‍लांटो की क्षमता को दो गुने के लगभग बढाया जाएगा।

श्री शुक्ल ने कहा कि प्रदेश सरकार का लक्ष्य केवल दूध खरीदने और बेचने तक ही सीमित नहीं है बल्कि दूध का क्रमिक विकास एवं संवर्द्धन किया जाएगा, जिसके लिए दूध के भण्डारीकरण तंत्र को सुदृढ़ किया जाएगा। जिससे उसकी गुणवत्ता और पौष्टिकता बनी रहे उपभोक्ता को शुद्ध दूध उचित मूल्य पर उपलब्ध होता रहे।