प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में उपस्थित आदरणीय अतिथियों, पदाधिकारियों व सम्मानित सदस्यों।

unnamed (5)

प्रिय बंधुओं एवं बहनों,
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक विजय के बाद पहली बार हम सभी का एक साथ मिलना हो रहा है। मंच पर विराजमान राष्ट्रीय नेतृत्व, यहाँ पर उपस्थिति हमारे सभी सहयोगी पदाधिकारी गण के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के सभी देवतुल्य कार्यकर्ताओं व जनता का हार्दिक अभिनन्दन, स्वागत व वंदन करता हूँ, जिनके आशीर्वाद से हमको इतनी बड़ी, अभूतपूर्व सफलता मिली है। आज 1 मई-श्रमिक दिवस है। राष्ट्रनिर्माण में लगे सभी श्रमिक बंधुओं को मैं बधाई देता हूँ। उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ।

आज हम अपने उन कार्यकर्ताओं को भी स्मरण करना चाहंेगे, जिन्होंने सत्ता व व्यवस्था परिवर्तन का सपना देखकर अपना पूरा जीवन संगठन कार्य में आहूत कर दिया। यह उन्हीं की तपस्या का फल है कि हम उत्तर प्रदेश में प्रचण्ड बहुमत की सरकार बनाने में सफल हुए हैं। राष्ट्रीय नेतृत्व का कुशल मार्गदर्शन व कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत की दम पर हम अपने लक्ष्य से भी आगे निकल गये। पिछली बार हम सभी लोग 6-7 अगस्त 2016 को झांसी में मिले थे। हमने विधानसभा में 265$ सीट जीतने का लक्ष्य तय किया था, और उसको हासिल करने के लिए एक कार्ययोजना (रोड मैप) बनाया था। पार्टी के लिए हर्ष व गौरव का विषय है कि हम उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा क्षेत्रों में अपने सहयोगियों के साथ चुनाव लड़के 265 से कहीं आगे 325 सीट पर पहुँच गये। उत्तर प्रदेश की जनता के द्वारा दिए गये इतने विराट समर्थन के लिए मैं उसका सिर झुकाकर अभिनन्दन करता हूँ।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव-2017 में भारतीय जनता पार्टी ने 312 सीट तथा सहयोगी दलों ने 13 सीट, इस प्रकार कुल 325 सीटों पर हमकों विजय मिली हैं।

– उ0प्र0 विधानसभा में कुल सीट                                      – 403
– (भाजपा $ सहयोगी दलों) द्वारा जीती सीटें                    – 325
– जीती सीटों का प्रतिशत                                                   – 81
– कुल मत प्रतिशत                                                            – 41
– पहली बार विधायक बने                                                  – 209
– 45 से कम उम्र के विधायक                                             – 103
– महिला विधायक                                                             – 36
– कुल आरक्षित 86 सीटों में से जीते                                   – 76

 

मित्रों, उत्तर प्रदेश जातिवाद व भाई-भतीजावाद की राजनीति के मंकड़जाल में उलझा हुआ था। देश के यशस्वी प्रधानमंत्री मा0 नरेन्द्र मोदी जी ने नारा दिया ‘‘सबका साथ-सबका विकास’’। देश की जनता ने उनकी बात पर भरोसा किया। देश में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी। केन्द्र सरकार की विकासवादी नीति व जनकल्याणकारी योजनाओं से लोगों का जीवन धीरे-धीरे सुधरने लगा है। प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद जनता की उम्मीदें और अपेक्षाएं काफी बढ़ गयी हैं। मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अल्प समय में ही उत्तर प्रदेश की दिशाहीन व सुस्त पड़ी सरकारी मशीनरी को गतिशील व उद्देष्यपरक बनाने की कोशिश की है। उत्तर प्रदेश की सरकार पर जनता का भरोसा बढ़ा है। सरकार गठन के पहले ही दिन से हमने जनता से किये गये वादों पर काम करना शुरू कर दिया है। संकल्प पत्र (घोषणा पत्र) में किये गये वाये के अनुसार सरकार गठन के बाद पहली कैबिनेट बैठक में किसानों का फसली ऋण माफ किया है। प्रदेश में भयमुक्त वातावरण बन रहा है, एंटी रोमियों स्क्वाड का गठन कर बालिकाओं को सुरक्षा कवच प्रदान किया है, अवैध बूचड़खाने बंद हो गये हैं, अपराधी प्रदेश छोड़कर भागने को मजबूर हुए हैं। प्रदेश के सम्पूर्ण विकास की योजनाएं सरकार द्वारा बनायी जा रही हैं। एक महीने से भी कम समय में केन्द्र सरकार के साथ ‘‘पॉवर फॉर आल’’ समझौता करके प्रदेश के सभी कस्बों व गाँवों को 24 घंटे बिजली देने की दिशा में तेजी से कदम बढ़ा दिए हैं। सड़क मार्गों को 15 जून से पहले गढ्ढा मुक्त कराने की योजना बनी है। सड़कें केवल आने-जाने का माध्यम ही नहीं होती, वे देश-प्रदेश के आर्थिक विकास का साधन भी होती हैं। प्रदेश के चहुँमुखी विकास के लिए हम कृत संकल्प हैं।

भारतीय जनता पार्टी की इस अभूतपूर्व ऐतिहासिक जीत में जिन कार्यक्रमों विशेष महत्व रहा है, उनका उल्लेख करना चाहूँगाः-

बूथ गठनः-
प्रदेश में पूर्व में 1 लाख 41 हजार 395 बूथ थे। वर्तमान में बूथ संख्या बढ़ जाने के बाद अब 1 लाख 47 हजार 401 बूथ है। इन बूथों में से 1 लाख 28 हजार बूथों पर बूथ अध्यक्ष बनाए गए। 1 लाख 8 हजार बूथों पर 10 से 21 सदस्यों की बूथ समितियों का गठन हुआ। 13 लाख 50 हजार कार्यकर्ताओं का डाटा प्रदेश कार्यालय पर उपलब्ध है।

बूथ प्रबन्धनः-
क्षेत्रीय बूथ अध्यक्ष सम्मेलनः-बूथ जीता-चुनाव जीता और ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ नारे के साथ क्षेत्रीय स्तर पर 4 जून को कानपुर, 7 जून को कासगंज, 27 जून को यूपी के बाराबंकी, 30 जून को मेरठ, एक जुलाई को बस्ती, 2 जुलाई को जौनपुर में क्षेत्रीय बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन आयोजित हुए। जिसमं मा0 अमित शाह जी ने मार्गदर्शन किया।

विधानसभा बूथ अध्यक्ष बैठकः-प्रदेश में 389 विधानसभाओं में बूथ अध्यक्षों की बैठकें आयोजित की गई। इनमें 88,253 बूथ अध्यक्ष उपस्थित रहे। इसमें नव मतदाताओं से सम्पर्क कर उनको पार्टी से जोड़ने, मतदाता सूचियों के आधार पर अपने वोट को बूथ तक लाना एवं अपना बूथ कैसे जीते, इस विषय पर बूथ अध्यक्षों को योजना बताई गई।

काशी संसदीय क्षेत्र बूथ समिति सम्मेलन (16 दिसम्बर, 2016)
काशी संसदीय क्षेत्र के बूथ सम्मेलन में मा0 मोदी जी ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया। प्रधानमंत्री जी ने अपना भोजन कार्यकर्ताओें के मध्य बैठक कर ही किया। इस बूथ सम्मेलन में 26 हजार कार्यकर्ता सम्मिलित हुए।

सेक्टर स्तरीय बैठक (28 से 31 अगस्त 2016 तक)
सेक्टरशः बूथ अध्यक्ष एवं बूथ समितियों की बैठकें आयोजित की गई। इसके लिए जिला स्तर पर तैयारी बैठकें आयोजित की गई। 28 से 31 अगस्त तक सेक्टरों पर बैठकें आयोजित की गई।

मण्डल/सेक्टर/बूथ समिति बैठकः
प्रदेश में क्षेत्रीय स्तर पर मण्डल अध्यक्षों की 6 बैठकें 25 से 30 नवम्बर तक सम्पन्न हुई। 2 जनवरी लखनऊ परिवर्तन रैली की तैयारी के लिए सेक्टरशः बूथ अध्यक्ष एवं बूथ समितियों की बैठकें 15 से 25 दिसम्बर के मध्य आयोजित की गई। प्रदेश में लगभग 11 हजार सेक्टरों पर ये बैठकें आयोजित की गई। जिसमं रैली हेतु आमंत्रण पत्र/प्रवेश पत्र व तैयारियों पर व्यापक चर्चा हुई।

आई0टी0 कार्यशाला एवं प्रदेश सम्मेलनः-
आई0टी0 के कार्यकर्ताओं के प्रदेश स्तर पर 2 एवं क्षेत्र स्तर 7 प्रशिक्षण वर्ग आयोजित किये गये। इनमें कुल 5031 कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण किया गया। मा0 अमित शाह जी की उपस्थिति में 3 सितम्बर, 2016 को एक कार्यकर्ता सम्मेलन लखनऊ में आयोजित किया गया। इसमें हर विधानसभा से 5 जिले से 10 क्षेत्र से 20 कार्यकर्ताओं की टीम को बुलाया गया। प्रदेश से 3800 कार्यकर्ता इसमें सम्मिलित हुए।
आई0टी0 सेन्टर (अटल आई0टी0 सेन्टर)ः-
लखनऊ के पार्टी आफिस में एक हाईटेक सेल बनाया गया। जिसमें 40 से 50 लोगांे की टीम लगाई गई। प्रदेश के सभी 92 जिलों में एक-एक आई0टी0 सेन्टर बनाया गया। जिसमें 2-2 कम्प्यूटर लगाये गये, साथ ही काॅल सेन्टर और डाटा आॅपरेटर की व्यवस्था भी की गई।

परिवर्तन वीडिया वैनः-
हर विधानसभा के लिए एक वीडिया वैन (कुल 403) चलाए गये। इन परिवर्तन संदेश वैन के द्वारा कुल 58 हजार, 809 छोटी-छोटी सभाएं की गई। इन सभाओं में लगभग 46 लाख 8 हजार 674 लोग उपस्थित रहे। इनके अलावा 11 वर्चुअल रियालिटी सक्षम (आर0वी0) वैन महानगरों में चलाई।

कमल सन्देश बाइक अभियानः-
युवाओं से जनसम्पर्क के लिए विधानसभा स्तर पर 4 मोटरसाइकिलों (बाइक) अर्थात कुल 1649 बाइक के माध्यम से युवा कार्यकर्ताओं से संवाद किया। इस अभियान में कुल 76 हजार 75 गांव कवर किये गये। कुल 95 लाख 517 घरांे तक कमल संदेश पहॅुचाया गया था 2 लाख 80 हजार 267 छोटे-छोटे संवाद के द्वारा

कुल 64 लाख 57 हजार 486 युवाओं से संवाद स्थापित किया।
unnamed (3)
यूपी के मन की बातः-
मा0 अमित शाह जी द्वारा ‘यूपी के मन की बात’ अभियान शुरू किया गया। इसके अन्तर्गत प्रदेश में 75 हाईटेक वीडियो रथ चलाए गए। लोग आकांक्षा पेटी, मिस्डकाल, मैसेज, वाट्सअप पर बेवसाईट पर जाकर, फेसबुक/ट्विटर आदि के माध्यम से भी जानकारी पार्टी तक पहुंची । इन सभी के माध्यम से कुल 39 लाख 3 हजार 57 लोगों ने अपनी आकांक्षाएं पार्टी तक पहुंचाई ।
मिस्डकाल नम्बर 7505403403 पर कुल 4 लाख 17 हजार 881 मिस्डकाल प्राप्त हुई। इन नम्बर पर लोक कल्याण संकल्प पत्र के प्रमुख बिन्दु रिकार्ड कर प्रसारित किये गये।

आकांक्षाएं एकत्र करने का माध्यम                 एकत्रित आकांक्षाएं
वीडिया वैन                                                           61,659
यूपी के मन की बात- बेवसाईट                              5,31,834
मिस्डकाल और वाट्सअप                                    (7505403403) 23,92,394
आकांक्षा पेटी                                                        9,17,170
कुल प्राप्त आकांक्षाएं                                            39,03,057

कमल मेलाः-
16 दिसम्बर से 29 जनवरी के बीच प्रदेश के कुल 34 जिलों में कमल मेलों का आयोजन किया गया। जिसमें 14 लाख, 08 हजार, 500 लोग उपस्थित रहे। इन मेलों के द्वारा लोगों को केन्द्र सरकार की सभी योजनाओं की जानकारी प्रदर्शनी, वीडियो इत्यादि द्वारा दी गई। लोगों के मनोरंजन के लिए सेल्फी विद मोदी, कमल मेहंदी, खेल, खाने के स्टाल, मैजिक शो, लेजर शो आदि की भी व्यवस्था की गई थी।

युवा टाउन हॉल –
19 नवम्बर को लखनऊ में मा0 अमित शाह जी ने टाउन हाॅल के माध्यम से प्रदेश के युवाओं से सीधा संवाद किया और युवाओं द्वारा पूछे गये सवालों का जवाब दिया। इस कार्यक्रम का 156 वन-वे लोकेशनस और 6 टू-वे लोकेशनस पर सीधा प्रसारण हुआ, जिसमें वन वे लोकेशन से 70 हजार युवा और टू-वे लोकेशनस से 4 हजार, 200 युवा सम्मिलित हुए।

तिरंगा यात्राः (16 से 22 अगस्त 2016)ः-
15 अगस्त को आजादी के 70 साल पूरे होने पर बूथ स्तर पर तिरंगा यात्रा निकाली गई। 9 से 22 अगस्त के बीच सभी बूथों पर इसके तहत प्रभात फेरी, मण्डल स्तर पर 10 युवाओं की 5 मोटरसाईकिल टोली बनाकर तिरंगा यात्रा, मशाल जुलूस, सैनिकों को महिला मोर्चा द्वारा रक्षा सूत्र बांधा गया। इस कार्यक्रम में

मा0 अमित शाह जी ने लखनऊ में शहीद स्मारक काकोरी में श्रद्धाजंलि अर्पित की। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अशफाक उल्लाह खान, राम प्रसाद बिस्मिल और रोशन सिंह की जन्मस्थली शाहजहाॅपुर में प्रवास किया।
नवमतदाता पंजीकरण अभियानः-

1 सितम्बर से 17 सितम्बर तक चले इस अभियान में प्रदेश 1471 मण्डलों पर 6 हजार 235 कैम्प लगाकर (चैराहे, कालेज, सार्वजनिक स्थान आदि पर) 9 लाख 14 हजार 266 नए मतदाताओं का पंजीकरण करवाया गया।

चुनाव प्रबन्धन टीमः-
बेहतर चुनाव प्रबन्धन के लिए यूपी भाजपा की एक चुनाव प्रबन्धन कार्यशाला 4 जनवरी को आयोजित हुई। इस कार्यशाला में चुनाव के दौरान प्रशासनिक अनुमति लेने चुनाव आयोग के साथ बेहतर तालमेल करने, सभी जिलों के प्रशासनिक अफसरों की फाइल तैयार कराई गई। (अधिकारी का नाम/मो0नं0 आदि) इसके अलावा चुनाव के सभी चरणों की पूरी जानकारी की फाइलिंग कैसे की जाए यह बताया गया। प्रदेश के अलावा क्षेत्र एवं जिला स्तर पर चुनाव प्रबन्धन टीम बनाई गई। इनकी क्षेत्रीय स्तर पर कार्यशालाएं आयोजित की गई।

unnamed

परिवर्तन यात्राः (5 नवम्बर से 24 नवम्बर 2016)ः-
5 नवम्बर से प्रदेश में 4 अलग अलग स्थानों (सहारनपुर, झांसी, बलिया, सोनभद्र) से 4 परिवर्तन यात्रा शुरू हुई। इन चार स्थानों से राष्ट्रीय अध्यक्ष मा0 अमित शाह जी, मा0 राजनाथ सिंह जी, मा0 कलराज मिश्र जी, सुश्री उमा भारती जी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रदेश के सभी 75 जिलांे एवं 403 विधानसभा क्षेत्रों में होते हुए 24 दिसम्बर को ये यात्रा लखनऊ पहुॅची, जहाॅ रोड-शो के साथ यात्रा का समापन हुआ।

पिछड़ा वर्ग सम्मेलन (15 अक्टूबर से)ः-
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पिछड़ों को पार्टी से जोड़ने के लिए पार्टी ने 15 अक्टूबर से दो विधानसभा क्षेत्रों को मिलाकर एक पिछड़ा वर्ग सम्मेलन का आयोजन किया। प्रदेश में 200 पिछड़ा वर्ग सम्मेलन आयोजित हुए जिनमें 8 लाख, 39 हजार, 100 पिछड़े वर्ग के लोगों ने भाग लिया। इस सम्मेलन से पहले प्रदेश स्तर पर कार्यशाला आयोजित की गई। क्षेत्रीय स्तर पर 27 सितम्बर को अमरोहा, 28 सितम्बर को फतेहपुर, काशी में 29 सितम्बर, 30 सितम्बर को लखनऊ, 4 अक्टूबर को बृज तथा 5 अक्टूबर को गोरखपुर क्षेत्र की कार्यशाला सम्पन्न हुई।

महिला सम्मेलन:-
महिलाओें से जुड़ने के लिए प्रदेश में 75 जिला केन्द्रों पर 75 महिला सम्मेलन होना तय हुआ।
कुल 77 महिला सम्मेलन हुए। जिनमें 2,50,660 महिलाओं ने भाग लिया। 10 सितम्बर से 20 सितम्बर तक जिला स्तर पर इसके लिए तैयारी बैठकें आयोजित की गई।

युवा सम्मेलन:-
पार्टी ने युवाओं से संवाद करने के लिए प्रदेश भर में युवाओं के जिला स्तर पर सम्मेलन आयोजित किये। प्रदेश में कुल 88 युवा सम्मेलन आयोजित हुए। जिनमें पार्टी के नेताओं ने कुल 4,65,493 युवाओं से संवाद किया।

स्वाभिमान सम्मेलन:-
प्रदेश के एस0सी0/एस0टी0 वर्ग के लोगों तक पहुॅचने के लिए 18 स्वाभिमान सम्मेलन आयोजित किये गये। जिनमें 54,300 लोग सम्मिलित हुए। इस सम्मेलनों में पार्टी के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के नेताओं ने लोगों से संवाद स्थापित किया।

व्यापारी सम्मेलन:-
प्रदेश के व्यापारी वर्ग के लोगों के बीच पहुॅचने के लिए 14 कमिश्नरी में व्यापारी सम्मेलन आयोजित कराए गए। जिनमें 11,850 व्यापारी सम्मिलित हुए।

उड़ान (महिलाओं से संवाद)ः-
श्रीमती स्मृति ईरानी जी ने 6 जनवरी को उड़ान कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश की महिलाओं से सीधा संवाद किया। लाइव वीडियो कांफ्रेसिंग से प्रदेश के अलग-अलग स्थानों से जुड़ी महिलाओं के सवालों का जवाब दिया। इस कार्यक्रम का आयोजन प्रदेश में 428 स्थानों पर हुआ, जिसमंे कुल 1 लाख, 93 हजार, 450 महिलाएं उपस्थित रही।

unnamed (2)

कार्यक्रम स्थल मुख्य कार्यक्रम स्थल 2 वे स्थल 1 वे स्थल कॉलेज कमल मेला
कुल स्थल 1 9 357 56 5
उपस्थित महिलाएं 2,500 9,400 1,44,810 23,240 13,500

किसान अभियानः-
किसानों तक भाजपा सरकार द्वारा किसान हितों के लिए चलाये जा रहे अभियानों और योजनाओं की जानकारी किसानों तक पहुॅचने के लिए किसान महा अभियान शुरू किया गया। यह अभियान दो चरणों में हुआ।

1- किसान महा अभियान के पहला चरण में प्रदेश भर में अलाव सभा आयोजित कर उनसे संवाद स्थापित किया। यह अभियान 11 जनवरी को सम्पन्न हुआ, जिसके अन्तर्गत कुल 3,564 अलाव सभाओं का आयोजन किया गया। जिसमें 2,30,669 किसानों से पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किसानों से संवाद स्थापित किया।

2-किसान अभियान के दूसरे चरण में प्रदेश के सभी 75 जिलों में एक साथ ‘माटी तिलक प्रतिज्ञा’ रैली का आयोजन किया गया। अलाव सभा में आये सभी किसानों को इस रैली में आने का निमंत्रण दिया गया। किसानों के खेत की मिट्टी से तिलक लगाकर भाजपा ने उनकी मांगों को पूरी करने का वादा किया। कुल 1 लाख, 34 हजार, 200 किसानों ने माटी तिलक प्रतिज्ञा रैली में भाग लिया।

unnamed (1)

परितर्वन संवादः-
विभिन्न व्यवसायें जैसे व्यापारी, शिक्षक, वकीलों, सी0ए0 इत्यादि वर्गों के प्रभावी व्यक्तियों को भाजपा की सरकार की नीतियों से अवगत करने के लिए प्रदेश में 8 परिवर्तन संवाद कार्यक्रम कराए गए। जिनमें 3 हजार, 507 लोग उपस्थित रहे। नोएडा में परिवर्तन संवाद को मा0 राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह जी ने सम्बोधित किया।

कॉलेज सभाएं –
प्रदेश के युवाओं से सीधा संवाद करने और भाजपा के वादों को उन तक पहुॅचाने के लिए 6 क्षेत्रों में
12 वीडियो वैनों द्वारा काॅलेज सभाएं कराई गई। कुल 1,650 सभाएं आयोजित की गई। प्रदेश में कुल 2,058 कॉलेज अम्बेसडर बनाये गए।
पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी का यह जन्म शताब्दी वर्ष भी है। हम सभी उनके दिखाये गये मार्ग लक्ष्य अन्त्योदय, प्रण अन्त्योदय, पथ अन्त्योदय पर चलकर प्रदेश की जनता का कल्याण करंेगे।

राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर जी की एक कविता की कुछ पंक्तियों के साथ मैं अपनी बात को विराम देना चाहूंगा –

समर शेष है, जनगंगा को खुलकर लहराने दो,
षिखरों को डूबने और मुकुटों को बह जाने दो।
पथरीली उँची जमीन है ? तो उसको तोड़ेंगें,
समतल पीटे बिना समर कि भूमि नहीं छोड़ेंगे।।

भारत माता की जय !