लखनऊ 14 अप्रैल 2017, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ0 चन्द्रमोहन ने कहा कि, बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा अपने सगे भाई आनन्द कुमार की बसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर नियुक्ति से यह साबित होता है कि, वह अपने भाई को तमाम भ्रष्टाचार के आरोपों से बचाने की राजनैतिक कवायद कर रही हैं। सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय का दावा करने वाली मायावती जी अब परिजन हिताय-परिजन सुखाय के रास्ते पर है।

प्रदेश पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता डॉ0 चन्द्रमोहन ने कहा कि, बसपा सुप्रीमों द्वारा आज डॉ0 भीमराव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर यह नियुक्ति बताती है कि, बसपा सुप्रीमो मायावती का दलित राजनीति से कोई सरोकार नहीं है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रदेश की सम्मानित जनता ने उनकी दौलत की राजनीति को जो आईना दिखाया है, उससे भी उन्होने कोई सबक नही लिया अपितु वह परिवारवाद का ही पोषण किया है।