अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं होता – डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय

लखनऊ 17 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी ने आज कहा कि अपराधियों के विरूद्ध कार्यवाही से समाजवादी पार्टी परेशान। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने आज सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि श्री अखिलेश यादव की सपा सरकार ध्वस्त कानून व्यवस्था के लिए विख्यात रही। सपा शासन काल में पूरा प्रदेश अराजकता की गिरफ्त में था मथुरा का जवाहर बाग काण्ड तथा मुजफ्फरनगर दंगा सहित अनेक घटनाएं सपा शासन काल की देन रही है।

उन्होंने कहा कि सपा शासनकाल के दौरान भेदभाव पूर्ण रीति नीति के चलते प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से पटरी से उतर गई थी। कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त करने के लिए योगी सरकार कृत संकल्प है तथा भाजपा सरकार आने के बाद से ही अपराध मुक्त उ0प्र0 के लिए भाजपा नेतृत्व की सरकार निरंतर कार्य कर रही है तथा अपराधी जिस तरह एक के बाद एक जेल की सीखंचों के पीछे जा रहे है तथा पुलिश बल पर गोली चलाने वाले अपराधियों को भी उसी तरह का जबाव देने की स्वतंत्रंता वर्तमान योगी सरकार ने पुलिस बल को भी दिया है उसको लेकर विपक्षी दलों में बैचेनी है।

डॉ० पाण्डेय ने आरोप लगाया कि भेदभाव की नीति के आधार पर अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही समाजवादी पार्टी सरकार की नीति रही है जब कि वर्तमान सरकार की नीति में कानून को तोड़ने वाला तथा कानून व्यवस्था को हाथ में लेने वाला प्रत्येक व्यक्ति अपराधी है और अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं होता।

भाजपा अध्यक्ष ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव को नसीहत दी की वह प्रदेश के हित में अपराध मुक्त उ0प्र0 के लिए सरकार की सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएं, खोखले कोरे आरोप प्रदेश की सम्मानित जनता को हास्पस्पद प्रतीत होते है। भाजपा अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव द्वारा गाजीपुर में दिए गए बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे।