गांवों, गरीबों, किसानों, नौजवानों, वंचितों और आम लोगों को समर्पित है बजट, देश का भी होगा विकास और दुनिया में भी बनेगी भारत की साख – डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

लखनऊ 01 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री महेंद्र पाण्डेय ने कहा है कि आज पेश बजट गांवो, गरीबों, किसानों, नौजवानों, वंचितों, पिछड़ों और आम लोगों के लिए समर्पित है और इस ऐतिहासक बजट के लिए प्रधामनमंत्री जी और वित्तमंत्री जी की पूरी टीम बधाई की पात्र है। श्री पाण्डेय ने कहा कि बजट में सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है और देश को मजबूत करने के साथ ही साथ अंतराष्ट्रीय स्तर पर देश को दुनिया के बाकी देशों से आगे रखने की भी कोशिश भी इस बजट में साफ नजर आ रही है। श्री पाण्डेय ने कहा कि दुनिया में पहली बार किसी देश में चालीस फीसदी आबादी को बीमा के दायरे में लाकर पांच लाख रूपए तक के इलाज का इंतजाम किया गया है। ये एक ऐतिहासिक कदम है।

प्रदेश अध्यक्ष श्री महेंद्र पाण्डेय ने कहा कि विडंबना है कि देश में आजादी के सात दशक बाद भी हमारी मां बहनें शौचालय से लेकर चूल्हे तक की समस्या से जूझ रही है। ऐसे में प्रधानमंत्री जी की अगुवाई में शुरू हुए अभियान को गति देते हुए बजट में इस बार भी दो करोड़ मुफ्त शौचालय देने का फैसला सराहनीय है। यही नहीं उज्जवला योजना से हमारी माताओं बहनों को मिली राहत को देखते हुए आठ करोड़ चूल्हे देने का फैसले का भी स्वागत होना चाहिए। इस योजना से गांवों में रहने वाली उन माताओं बहनों की जीवन में बड़ी राहत मिलेगी जो अभी तक चूल्हे के धुएं से ना सिर्फ बीमार पड़ती थी बल्कि उनके लिए चूल्हे की लकड़ियों और कोयले का इंतजाम करना भी एक बड़ी चुनौती से कम नहीं था।

श्री पाण्डेय ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने संकल्प लिया है कि किसान भाइयों की आय 2022 तक दुगुनी की जाए। और इसी संकल्प पर आगे बढते हुए बजट में फसलों की लागत मूल्य का डेढ गुना कीमत देने का फैसला किया गया है। किसान भाइयों के पास विकल्प होगा कि वे अपनी फसल खुले बाजार में ज्यादा कीमत पर बेंच सकें, पर नुकसान की हालत में सरकार उनकी लागत का डेढ गुना देकर उन्हें आर्थिक तौर पर मजबूत करने का काम करेगी। ये एक शानदार फैसला है। श्री पाण्डेय ने कहा कि सरकार के अथक प्रयास का ही परिणाम है कि कृषि उत्पादन रिकार्ड पर है। अब तक 275 मिलियन टन खाधान्न और 300 मिलियन टन फलों का उत्पादन हुआ है। ऐसे में सरकार ने आर्गेनिक खेती को बढावा देते हुए जहां 200 करोड़ का बजट दिया है तो वहीं सब्जी और फलों के उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए आपरेशन ग्रीन चलाकर एक बड़ी मुहिम शुरू की है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व फैसला लेते हुए जहां दस करोड़ परिवारों यानी पचास करोड़ लोगों के लिए पांच लाख रूपए तक के इलाज का इंतजाम किया है। इसका सीधा फायदा गरीब और मध्यम वर्ग लोगों को मिलेगा। इतना ही नहीं अस्पतालों की जरूरत को महसूस करते हुए सरकार ने तय किया है कि हर तीन लोकसभा क्षेत्र में एक मेडिकल कालेज की स्थापनी का जाएगी। इसका सीधा फायदा आम लोगों को मिलेगा। साथ ही इन मेडिकल कालेजों से लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

श्री पाण्डेय ने कहा कि शिक्षा मे गुणवत्ता के लिए भी इस बजट में तमाम जरूरी प्राविधान किए गए हैं। खासतौर पर आदिवासी इलाकों में एकलव्य माडल रेजिंडेशियल स्कूल बनाकर इन इलाके के बच्चों की शिक्षा का स्तर ऊंचा किया जाएगा। सरकारी स्कूलों में ब्लैकबोर्ड की जगह डिजिटल बोर्ड का इंतजाम किया जाएगा। सभी को छत देने की कोशिशों के तहत इस बजट में ग्रामीण क्षेत्रों में 51 लाख और नए घर बनाए जाएंगे। इस तरह कुल एक करोड़ घर बनाकर लोगों को छतें मुहैया कराने का फैसला बेहद मानवीय और सराहनीय है।

श्री महेंद्र पाण्डेय ने कहा कि पीएम सौभाग्य योजना के तहत उन घरों में बिजली पहुंचाने का काम किया जा रहा है जहां आजादी के बाद आज तक बिजली नहीं पहुंची। इस साल बजट में 1.75 घरों तक बिजली पहुंचाने का इंतजाम किया गया है। इस तरह कुल चार करोड़ तक मुफ्त बिजली दी जा रही है जो अपने आप में मील का पत्थर साबित होगा। इस शानदार और ऐतिहासिक बजट के लिए प्रधानमंत्री जी और वित्त मंत्री जी की पूरी टीम साधुवाद की पात्र है।