जस्टिस लोया केस में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से कांग्रेसी झूठ का पर्दाफाश – डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय

लखनऊ 19 अप्रैल 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि जस्टिस लोया केस में मा0 उच्चतम न्यायालय के निर्णय से कांग्रेस व वामपंथियो समेत समूचे विपक्ष द्वारा झूठ और भ्रम फैलाने की राजनीति का पर्दाफाश हुआ है। डॉ० पाण्डेय ने कहा कि जनता द्वारा तिरस्कृत कांग्रेस देश में अस्थिरता फैलाने के लिए झूठ और भ्रम का तानाबाना बुन रही है। सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस समेत समस्त विपक्ष को आइना दिखाते हुए न्यायपालिका को बदनाम करने, जजों की विश्वसनीयता पर सवाल उठाने एवं जनहित याचिका का मजाक बनाने के लिए आड़े हाथों लिया।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि भारतीय न्याय व्यवस्था में आमजन की आस्था ही लोकतंत्र का मूलाधार है। कांग्रेस ने न्याय प्रक्रिया का राजनीतिकरण के प्रयास कर महापाप किया है। राजनीतिक मकसद से दायर की गई याचिकाओं का सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से पर्दाफाश हो गया है। सोहराबुद्दीन एनाकांउटर केस की सुनवाई करने वाले जस्टिस लोया की मृत्यु की एसआईटी जांच की याचिका खारिज करके सुप्रीम कोर्ट अफवाहो, अस्थिरता एवं देश को कमजोर करने व न्याय व्यवस्था पर प्रश्न उठाने वाली कांग्रेस की छदम राजनीति का असली चेहरा उजागर का दिया है। अब कांग्रेस व वामपांथियों समेत सारे विपक्ष को अपने कुकृत्यों और झूठ के लिए देश से माफी मांगना चाहिए।
डॉ० पाण्डेय ने कहा कि राहुल गांधी जमीन पर राजनीति करने में असमर्थ रहे है, इसलिए उन्होंने कोर्ट के परिसर में राजनैतिक प्रपंच रचा, जिस प्रपंच को सुप्रीम कोर्ट ने जनता के सामने ला दिया। गांधी परिवार देश के गरीब और पिछड़े किसी भी व्यक्ति को सत्ता में नहीं देखना चाहता और उसके खिलाफ राजनीतिक षड़यंत्र करके उसे हटाने की साजिश करता है।