देश की सबसे पुरानी पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद में जो आचरण पेश किया वह बहुत ही निन्दनीय है – डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय

लखनऊ 20 जुलाई 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने आज लोकसभा में विपक्ष के द्वारा लाये गये मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर कहा कि देश की सबसे पुरानी पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद में जो आचरण पेश किया वह बहुत ही निन्दनीय है। उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री पर झूठे और अनर्गल आरोप लगाये और उसके समर्थन में कोई भी दस्तावेज सदन में प्रस्तुत नहीं करके अपनी विश्वसनीयता को ही कटघरे में खड़ा कर लिया है। सदन में राहुल का प्रदर्शन नुक्कड़ नाटक के जैसा रहा। दुर्भाग्य है कि लोकतंत्र का मंदिर ऐसे आचरण का साक्षी बना।

राहुल गांधी ने अपने भाषण के पश्चात जो नाटकीयता उन्होंने देश के प्रधानमंत्री के साथ की वह देश की गरिमा को और संसद की मर्यादा को तार-तार करती है। दो लोग आपस में आदर से गले मिलते है। यहां पर वह नाटकीयता दिखाते हुए आदणीय प्रधानमंत्री जी के साथ जबरदस्ती गले पड़े, और वापस अपनी सीट पर जाकर जिस तरह से उन्होंने अपने सहयोगी सांसद का आंखे से यह प्रदर्षित किया कि देखों मैं कैसा नाटक करके आया हूँ, यह बहुत ही निन्दनीय है।

आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने आज भारत को विश्व के पटल पर ऊँचा स्थान दिलाया है। हम आज अर्थव्यवस्था में फ्रांस को पछाड़कर छटे नम्बर के देश हो गये है। हमारी विदेशी मुद्रा भण्डार 2014 के मुकाबले लगभग तीन गुना बढ़ चुकी है। आज मुद्रास्फीति नीचे है। आज आजादी के बाद शतप्रतिशत गांवों में बिजली पहुंच चुकी है। लगभग 4 करोड़ घरों में आजादी के बाद बिजली मोदी सरकार ने पहुंचायी है।

आज किसानों की आय दोगुना करने के प्रयास में सरकार संकल्पित है। उपज की लागत का डेढ़ गुना एमएसपी घोषित किया। 10 करोड़ परिवारों को रूपये 5 लाख का बीमा हमारी सरकार दे रही है। इससे लगभग 50 करोड़ गरीब नागरिकों को सीधा लाभ पहुंचेगा। मुद्रा बैंक योजना से लगभग 12 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को स्वरोजगार मिला। 3.6 लाख से अधिक गांवों में 7.25 करोड़ शौचालयों का निर्माण हुआ। उज्जवला गैस आज 4 करोड़ घरों में पहुंच चुकी हैं। इसको बढ़ाकर सरकार ने 8 करोड़ का लक्ष्य कर दिया है।

यूरिया को नीम कोटेड करके उसकों सर्व सुलभ कर दिया है। देश 2019 में एक बार फिर माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में विश्वास व्यक्त करेगा और मोदी जी के संकल्प 2022 तक एक नये भारत के निर्माण का साक्षी बनेगा।