लखनऊ 04 मई 2018, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के आह्वान पर प्रारम्भ हुए ग्राम स्वराज अभियान के तहत किसान कल्याण कार्यशाला में ब्‍लॉक स्तर तक किसानों से संवाद स्थापित होगा। किसानों की आय दोगुनी करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प के साथ सभी विकास खण्डों पर किसान कल्याण कार्यशाला आयोजित की गई। इसी क्रम में प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय आज मैनपुरी में आयोजित कार्यशाला में बोलते हुए कहा कि सरकार की गरीब कल्याण की योजनाएं समाज के अंतिम छोर पर खड़े हुए व्यक्ति तक पहुंच रही हैं। सभी कार्यकर्ता मोदी सरकार के द्वारा गरीब कल्याण के लिए गये निर्णय घर-घर तक पहुंचाये।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि किसान कल्याण कार्यशालाओं में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य लेकर प्रत्येक ब्लाॅक पर केन्द्रीय व प्रदेश सरकार के मंत्री, सांसद, विधायक, राष्ट्रीय व प्रदेश पदाधिकारी, संगठन व सरकार समन्वित रूप से किसानों के बीच जा रहे है। किसान कल्याण की योजनाएं और समृद्धि के अवसर लेकर अन्नदाता की दहलीज पर भाजपा सरकार और संगठन की दस्तक के रूप में किसान कल्याण कार्यशालाओं का आयोजन किया गया है।

समन्वय समिति की बैठक में प्रदेश, जिला व सेक्टर प्रभारी स्तर के कार्यकर्ताओं के बीच में चर्चा करते हुए प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि जनता के साथ निरंतर संवाद बना रहना चाहिए। सरकार की योजनाएं सही ढंग से जनता तक पहुंचें। इसका अनुश्रवण करते रहना चाहिए, कार्यकर्ताओं के लिए आगे कड़ी चुनौती है। अमेठी, रायबरेली, कन्नौज, आजमगढ़, बदायूॅ, मैनपुरी में इस बार कमल खिलेगा और इसमें आप सभी देव दुर्लब कार्यकर्ताओं को कड़ी मेहनत करनी होगी। 2019 में देश में एक बार फिर से कमल खिलाने का संकल्प दिलाया।

किसान पराम्परागत खेती के साथ मत्स्य पालन, पशुपालन, फल, मशरूम, औषधीय खेती आदि के द्वारा अपनी आय बढ़ा सकते है, इसके लिए केन्द्र व प्रदेश की सरकार उनकी हर सहायता करने को तैयार है। समाज में ऐसे किसान भी है जो आधुनिक कृषि से अभी तक लाभान्वित नहीं हुए हैं, उन्हें अग्रणी बनाने के लिए हम सभी काम कर रहे है। दलहन का उत्पादन बढ़ाने पर सरकार का ध्यान केन्द्रित है। स्वामी नाथन आयोग ने किसान को लागत मूल्य के आधार पर उपज का मूल्य मिलने की सिफारिश की थी। प्रधानमंत्री मोदी जी ने किसानों को लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने के लिए आश्वस्त किया है। योगी सरकार ने किसानों की कर्जमाफी का ऐतिहासिक काम किया है।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि मोदी सरकार मृदा परीक्षण, फसल बीमा योजना, नीम कोटेट यूरिया, सिंचाई योजना सहित किसान कल्याण की अनेक योजनाएं लेकर आयी है। मोदी सरकार अब धान का समर्थन मूल्य 2495 रूपये प्रति क्विंटल करने के प्रस्ताव पर निर्णय की ओर तेजी से बढ़ रही है। दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सभी राजनीतिक दलों को जन कल्याणकारी कार्यो में आगे आना चाहिए।

कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री रमाशंकर तिवारी व स्वागत जिलाध्यक्ष आलोक गुप्ता ने किया। इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री गोविन्द नारायण शुक्ला, क्षेत्रीय संगठन मंत्री भावानी सिंह, राज्यसभा सांसद हरनाम सिंह यादव व विधायक रामनरेश अग्निहोत्री आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।