भाजपा किसानों के साथ, ओलावृष्टि से तबाह फसलों पर मिलेगा अधिकतम मुआवजा – डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय

झांसी/लखनऊ 15 फरवरी 2018, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने बुन्देलखण्ड में ओलावृष्टि से तबाह हुई फसलों पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा किसानों के साथ है और उन्हें अधिकतम मुआवजा दिलाएगी। प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने झांसी में विस्तारक वर्ग में पूर्णकालिक विस्तारकों का किया मार्गदर्शन।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों के हर दुःख में उनके साथ है और उनकी आय दोगुनी करने के लिए संकल्पित है। प्रधानमंत्री मोदी जी ने ही प्राकृतिक आपदाओं में फसल के नुकसान पर डेढ़ गुना मुआवजे की नई व्यवस्था दी थी इसके साथ ही पहले 50 फीसदी फसल के बर्बाद हो जाने पर मुआवजा दिया जाता था उसे भी मोदी जी ने घटाकर 33 फीसदी किया। अब 33 फीसदी फसल की बर्बादी पर पूरा मुआवजा मिलेगा। सरकार ने आपदा मानकों को संशोधित करते हुए बरसात से होने वाली क्षति को भी मुआवजे के लिए शामिल किया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में नामित किसानों को उनकी फसल का मुआवजा तो मिलेगा ही साथ ही सरकार भी अधिकतम मुआवजा देगी।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार किसान ऋणमाफी के आगाज के साथ सत्ता में आई और गेहूॅ, धान की खरीद में कीर्तिमान, गन्ना भुगतान का कीर्तिमान सहित 80 हजार करोड़ रूपये किसानों के खाते में पहुंचाने का काम किया। किसान और सरकार के बीच से बिचैलिए दरकिनार हुए। केन्द्र सरकार ने यूपीए के दौर से लंबित चली आ रही स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करते हुए समस्त फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य लागत को डेढ़ गुना कर दिया है। बुन्देलखण्ड में हुई ओलावृष्टि पर मुख्यमंत्री ने 48 घंटे में फसल क्षति सर्वेक्षण रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश जिला प्रशासन को दे दिए है।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि संगठनात्मक तौर पर मैं मुख्यमंत्री से बात कर बुन्देलखण्ड के किसानों को अधिकतम मुआवजा देने के लिए बात करूंगा। किसानों ने उनका ध्यान आकृष्ट किया कि सरकार ने उड़द की दाल का समर्थन मूल्य बढ़ाया व उसकी खरीद का समय भी बढ़ाया परंतु समय से इसका प्रपत्र न आने से सभी किसानों को इसका लाभ नहीं मिल पाया। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा राज्य सरकार व केंद्र सरकार से बात कर तत्काल इसका समाधान निकाला जाएगा और वंचित किसानों को इसका लाभ दिलाया जाएगा। मोदी सरकार वित्तीय वर्ष 18-19 में 14.5 लाख करोड़ रूपये ग्रामीण भारत की तकदीर एवं तस्वीर बदलने के लिए खर्च करेगी जो बजट का लगभग दो तिहाई है, यह अभूतपूर्व एवं ऐहिहासिक कदम है। किसानों की खुशहाली ही भाजपा का संकल्प है और ग्रामीण भारत में सड़क, बिजली, पानी, उन्नत कषि, उन्नत बीज, खाद की प्रचुर उपलब्धता ही भाजपा का ध्येय है।