भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा मेरठ में चल रही उत्तर प्रदेश भाजपा की कार्यसमिति बैठक के समापन सत्र में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

महागठबंधन सत्ता के स्वार्थ के लिए किया गया एक झूठा और बेमेल गठबंधन है, यह भारतीय जनता पार्टी के लिए कोई चुनौती नहीं है। उत्तर प्रदेश में भले ही सपा, बसपा और कांग्रेस एक साथ क्यों जाएँ, हमारी सीटें 73 से 74 होंगी, 72 नहीं, हम सभी को 74 सीट जीतने का लक्ष्य सामने रख कर आगे बढ़ना है

***************

भारतीय जनता पार्टी की 1 करोड़ 80 लाख की सदस्यता, केंद्र में श्री नरेन्द्र मोदी जी और राज्य में श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार की गरीब कल्याण संबंधी उपलब्धियां और उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था में सुधार के बल पर भारतीय जनता पार्टी पुनः राज्य में विजयश्री हासिल करेगी

***************

महाभारत में पहले 5-6 दिन के नतीजे कुछ भी हों लेकिन 18वें दिन जीतना अर्जुन को ही है और भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता अर्जुन है

***************

एनआरसी पर कांग्रेस, सपा और बसपा का रवैया बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। एनआरसी का विरोध कर सपा, बसपा, कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रही है

***************

भारतीय जनता पार्टी एनआरसी को संवैधानिक तरीके से लागू करने के पक्ष में है।  एकएक घुसपैठिये को चुनचुन कर देश से बाहर निकाला जाएगा

***************

मोदी सरकार किसानों की आय को दुगुना करने की दिशा में सतत प्रयत्नशील है और इस दिशा में कई ऐतिहासिक कदम उठाये गए हैं

***************

पिछड़े वर्ग के आयोग संवैधानिक दर्जा देकर मोदी जी ने समतामूलक समाज की प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाया है

***************

उत्तर प्रदेश में सुशासन की राजनीति देने के लिए हमारी सरकार का गठन हुआ है। योगी जी की सरकार ने क़ानून व्यवस्था से लेकर विकास और किसानों को राहत देने तक सभी मामलों में कई महत्वपूर्ण कार्य किये हैं जिसके परिणाम अब धरातल पर दिखने लगे हैं

***************

आने वाले समय में सुशासन और विकास देश की राजनीति का मुख्य आधार बने, इसके लिए सभी पार्टियों के सांसदों और विधायकों को मिलकर काम करना चाहिए

***************

14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश के विकास के लिए लगभग 8 लाख करोड़ रुपये आवंटित किये गए हैं जो सोनियामनमोहन की कांग्रेस सरकार की तुलना में लगभग 5 लाख करोड़ रुपये अधिक है

***************

 

भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश की दो दिवसीय कार्यकारिणी बैठक आज मेरठ में संपन्न हुई। सुभारती विश्वविद्यालय मेरठ के ऑडिटोरियम में आयोजित इस बैठक के समापन सत्र को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने 2019 के चुनाव में भाजपा की उत्तर प्रदेश इकाई के समक्ष 74 सीटों का लक्ष्य रखा।

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की 1 करोड़ 80 लाख की सदस्यता, केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र और राज्य में श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी सरकार की गरीब कल्याण संबंधी उपलब्धियां, उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था में सुधार और गरीब कल्याण की दिशा में किए गए कार्यों के द्वारा भारतीय जनता पार्टी संगठन 51 प्रतिशत मत प्राप्त कर सफलता प्राप्त करेगा।

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने श्री नरेन्द्र मोदी जी की सरकार द्वारा फसलों के समर्थन मूल्य को डेढ़ गुना किए जाने को किसानों के हित में एक बड़ा कदम बताया। उन्होंने कहा कि वर्षों से लंबित किसानों की समस्या को हल करने का काम श्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार किसानों की आय को दुगुना करने की दिशा में सतत प्रयत्नशील है और इस दिशा में कई ऐतिहासिक कदम उठाये गए हैं।  पिछड़े वर्ग के आयोग संवैधानिक दर्जा देकर मोदी जी ने समतामूलक समाज की प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाया है। 1955 से ही देश का पिछड़ा वर्ग ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने की मांग कर रहा था लेकिन आजादी के 70 सालों तक कांग्रेस की सरकारों ने इसे लटकाए रखा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने वाले विधेयक को पिछले सत्र में भी लेकर आई थी लेकिन कांग्रेस, सपा और बसपा ने वोट बैंक की राजनीति के कारण इस महत्वपूर्ण विधेयक को राज्यसभा में अटका दिया था। उन्होंने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी जी के दृढ़ संकल्प के कारण इस सत्र में यह विधेयक दोनों सदनों से पारित हो सका है और और देश के करोड़ों पिछड़े वर्ग के लोगों को सम्मान के साथ जीने का अधिकार मिला है।

 

श्री शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एनआरसी को संवैधानिक तरीके से लागू करने के पक्ष में है। हमारा स्पष्ट मानना है कि देश के संसाधनों पर देश के ही नागरिकों का अधिकार होना चाहिए। उन्होंने कहा कि एकएक घुसपैठिये को चुनचुन कर देश से बाहर निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि एनआरसी पर कांग्रेस, सपा और बसपा का रवैया बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि हमारा स्पष्ट मानना है कि पड़ोसी देशों से जो हिन्दू, सिख, जैन आदि विशेष समुदाय के लोग यदि धार्मिक प्रताड़ना के कारण यहाँ आते हैं तो उन्हें शरणार्थी का दर्जा दिया जाएगा, लेकिन घुसपैठियों को बाहर निकालने के लिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार कड़े कदम उठाएगी।

 

कार्यकारिणी की बैठक के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पार्टी के सांसदों और विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में सुशासन की राजनीति देने के लिए हमारी सरकार का गठन हुआ है। उन्होंने कहा कि योगी जी की सरकार ने क़ानून व्यवस्था से लेकर विकास और किसानों को राहत देने तक सभी मामलों में कई महत्वपूर्ण कार्य किये हैं जिसके परिणाम अब धरातल पर दिखने लगे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश निवेश की दृष्टि से देश के महत्वपूर्ण डेस्टिनेशन के रूप में स्थापित हुआ है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में सुशासन और विकास देश की राजनीति का मुख्य आधार बने, इसके लिए सभी पार्टियों के सांसदों और विधायकों को मिलकर काम करना चाहिए। आने वाले समय में होने वाले पार्टी के सभी कार्यक्रमों की सफलता के लिए हम सभी को काम करना चाहिए।

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि महागठबंधन सत्ता के स्वार्थ के लिए किया गया एक झूठा और बेमेल गठबंधन है, यह भारतीय जनता पार्टी के लिए कोई चुनौती नहीं है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भले ही सपा, बसपा और कांग्रेस एक साथ क्यों जाएँ, हमारी सीटें 73 से 74 होंगी, 72 नहीं। उन्होंने कहा कि हम सपा, बसपा और कांग्रेस, सबको हरा चुके हैं, 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में भी यूपी के तथाकथित ‘दो लड़के’ साथ आये थे लेकिन हमें प्रदेश की जनता ने 300 से अधिक सीटों पर विजयश्री का आशीर्वाद देकर उनकी नकारात्मक राजनीति को करारा जवाब दिया था। उन्होंने कहा कि महाभारत में पहले 5-6 दिन के नतीजे कुछ भी हों लेकिन 18वें दिन जीतना अर्जुन को ही है और भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता अर्जुन है।

 

श्री शाह ने कहा कि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश के विकास के लिए लगभग 8 लाख करोड़ रुपये आवंटित किये गए हैं जो सोनियामनमोहन की कांग्रेस सरकार की तुलना में लगभग 5 लाख करोड़ रुपये अधिक है। उन्होंने कहा कि चाहे यूपी में रेलवे के विकास की बात हो अथवा विद्युतीकरण के क्षेत्र में हुए कार्य हों, केंद्र सरकार ने कोई कमी उत्तर प्रदेश के विकास में नहीं छोड़ी है। यही वजह है कि आज पश्चिमी उत्तर प्रदेश से पलायन रुक गया है। कानून व्यवस्था के मोर्चे पर आज प्रदेश की स्थिति में अभूतपूर्व सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि कार्यकारिणी के सभी सदस्य यह संकल्प लेकर यहां से जाएं कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में सरकार की योजनाओं को लोगों के बीच लेकर जाएंगे और भव्य भारत के निर्माण में पूरी निष्ठा और मनोयोग के साथ कार्य करेंगे।