मायावती राजनैतिक पर्यटन यात्रा पर – डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय

लखनऊ 16 सितम्बर 2018, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने आज मायावती द्वारा लगाए गये आरोपों पर पत्रकारों से बात करते देते हुए कहा कि मायावती जी को उत्तर प्रदेश की जनता के प्रति कितनी वेदना है वह इससे पता चलता है कि वह आज लगभग 3 महीने बाद प्रकट हुई हैं। वह केवल राजनैतिक पर्यटन के उद्देश्य के लिए लखनऊ आती हैं और बयान देकर चली जाती है।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हमेशा सम्बन्धों को प्राथमिकता देती है। परन्तु मायावती जी ने हमेशा सम्बन्धों की मर्यादा को तोड़ा है। जिस समय समाजवादी पार्टी के गुण्डें उनको बेइज्जत करके मारने का प्रयास कर रहे थे, तब भाजपा के कार्यकर्ताओं ने ही उनकी रक्षा की थी। उनको उत्तर प्रदेश जैसे विशाल राज्य का तीन बार मुख्यमंत्री भी उन्हीं सम्बन्धों को निभाते हुए बनाया था। परन्तु उन्होंने सम्बन्धों का निर्वाह कभी नहीं किया।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि मायावती जी ने बसपा के संस्थापक और दलितों के मसीहा मान्यवर कांशीराम जी के साथ क्या किया ये पूरा देश-प्रदेश जानता है? आज भी कांशीराम जी का परिवार मायावती जी के खिलाफ अपने सम्मान की लड़ाई लड़ रहा है। बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष जिनकी राजनीति अपना विकास और कुनबे के लूटतंत्र तक सीमित है उनके मुंह से दलितों-आदिवासियों के विकास की बात कोरी कल्पना के सिवा कुछ नहीं है। जिस कांग्रेस के राज में दलितों, आदिवासियों का उत्पीड़न हुआ, भ्रष्टाचार चरम पर पहुंचा उसके साथ खड़ी होकर मायावती जी सत्ता का सुख उठाती रही। जिस सपा के राज में प्रदेश में दलितों के साथ अत्याचार और ज्यादती की इंतहा हो गई मायावती जी आज उनके साथ हाथ मिला रही हैं। बहनजी प्रदेश का गरीब, दलित, पिछड़ा समाज आज यह समझ चुका है कि किस तरह उनका वोट लेकर आप अपनी तिजोरी भरती रहीं और उनको धोखा दिया। यही कारण है कि समाज का हर वर्ग मोदी-योगी सरकार की नीतियों से प्रभावित और लाभान्वित होकर भाजपा के साथ खड़ा है।

मायावती जी का नोटबंदी को लेकर रह-रह कर दर्द उभर आता है। लगता है कि उनके रखे नोंट कागज के टुकडों में बदल गए हैं और वह इस पीड़ा से उबर नही पा रही हैं। जब की उत्तर प्रदेश के चुनाव तथा देश में हुए अन्य राज्यों के चुनाव में जनता भाजपा की सरकारें बनवा कर अपनी मोहर नोटबंदी पर लगा चुकी है। जनता बसपा के सिर से सींग की तरह गायब है, लोकसभा में शून्य और विधानसभा में मात्र 19 सीटों पर सिमट गई है। शायद वे भूल गई है कि जनता ने उनके द्वारा किये गए भ्रष्टाचार के कारण ही उन्हें गद्दी से उतार फेंका है। आधे से ज्यादा उनके मंत्री और अधिकारी जेल की हवा खा रहे है।

किसानों को लेकर घडि़याली आंसू बहाने वाले यह ना भूलें कि प्रदेश की चीनी मिलें कौड़ियों के दामों बेंच दी गई थी। तब किसानों की चिंता कहां थी। जब भटटा परसौल पर निर्दोश किसानों की जमीन जबरन हथियाने और उन पर गोलियां चलवा रही थी तब क्या उन्हें किसान नहीं दिखाई पड़ रहे थे। जब गरीब जनता की दवाई और स्वास्थ्य के लिए आये हुए धन को एनआरएचएम में घोटाला करके अरबों का वारा-न्यारा किया गया। उसका परिणाम है कि उनके मंत्री और अधिकारी जेलों में है। कितने ही लोंगों की हत्याऐं हो गई जिन्होंने लूट के खिलाफ आवाज उठाई।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि हमारी सरकार गरीब कल्याण के लिए काम कर रही है। हम भय भूख, आंतकवाद और भ्रष्टाचार को देश से मुक्त करने के लिए लड़ रहे है। हमारे देश का गांव, गरीब, किसान, मजदूर सुखी हो, हमारा देश सुखी समृद्ध सम्पन्न बने। इस मिशन को पूरा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी संकल्प बद्ध है। आज नोटबंदी से रियल स्टेट के दाम भारी मात्रा में कम हुए है और आम जानता के लिए सुलभ है नकली नोट प्रचलन से बाहर हुआ है। आंतकवाद और नक्सलवाद में काफी कमी आयी है। गरीब जनता के इलाज के लिए मा0 प्रधानमंत्री जी ने आयुष्मान भारत योजना लागू की है। देश के लगभग 50 करोड़ जनता को 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा मिलेगा। किसानों को फसल के एमएसपी पर डेढ गुना दाम हमारी सरकार दे रही है। जो आज तक किसी सरकार ने नही दिया। नीम कोटिंग करके यूरिया सर्व सुलभ किया है। पहले इसकी कालाबाजारी होती थी।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर जी से जुडें हुए स्थानों को भाजपा सरकार ने पंच तीर्थ के रूप में विकसित किया है। लंदन में उनके घर की निलामी हो रही थी। उसको रूकवाकर हमनें उसे संग्राहालय के रूप में परिवर्तित किया है। मुद्रा बैंक योजना के द्वारा स्वरोजगार के लिए लगभग 14 करोड़ लोंगो को ऋण स्वीकृत किया जा चुका है। 5 करोड़ 48 लाख के लगभग परिवारों को उज्ज्वला गैस योजना के तहत गैस उपलब्ध करवाई गई है। सौभाग्य योजना के तहत 1 करोड 38 लाख के लगभग घरों में हमनें बिजली पहुंचायी है। प्रधानमंत्री आवास योजना में गरीब परिवारों को लगभग 1 करोड़ आवास उपलब्ध करायें गए हैं। उजाला योजना के तहत 30 करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब वितरित किये है।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि आज देश की अर्थव्यवस्था मजबूत है 2014 में शेयर मार्केट 22055 पर था। आज 2018 में 38704 है। देश 2014 में एफडीआई 36 बिलियन डालर था आज 60 बिलियन डालर है। भारत में फॉरेन रिजर्ब 2014 में 292 बिलियन डालर था आज 2018 में 424 बिलियन डालर का रिजर्ब देश के पास है। आज देश विश्व की पांचवीं सबसे बडी अर्थव्यवस्था है, वर्ड बैंक अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष तथा अन्तर्राष्ट्रीय ऐजेन्सी मूडीज ने भारत की रेटिंग निगेटिव से पॉजिस्टिव दी है। यह हमारी मजबूत अर्थ व्यवस्था का नतीजा है।