मोदी जी का मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर फिट इण्डिया अभियान से जोड़ने का आमंत्रण प्रेरणास्पद- डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय

-स्वच्छता अभियान से जुड़ने के लिए छात्रों से अपील।

-जल संरक्षण पर विशेष बल।

-खिलाडियों को कामनवेल्थ गेम में मिली सफलता उत्साह वर्धक।

लखनऊ 29 अप्रैल 2018, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय आज प्रधानमंत्री जी के मन की कार्यक्रम को अत्यंत्र पे्ररणा श्रोत बताया तथा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के 43वें संस्करण में अपने शुरूवात कामवेल्थ खेल में भारतीय खिलाडियों के उत्र्कठ प्रर्दशन की तारीफ से की। उन्होंने भारतीय खिलाडियों के 26 गोल्ड 20 सिलवर तथा तथा 20 ब्रान्ज पदक जीतने पर खुशी व्यक्त करते हुए देशवासियों को गौरन्वित एवं उत्साहित करने वाला बताया। प्रधानमंत्री मोदी ने कामनवेल्थ खेल में महिला खिलाडियों के पदक जीतने तथा बैडमिटन में पीवी सिन्धू व साइना नेहावाल की बीच हुए दिलचस्प मुकाबले कर जिक्र करते हुए सभी खिलाडियों के परिश्रम वह हौसले की प्रशंसा की और उन्होंने कहा कि तिरंगा झण्डा लिये खिलाडियों को देख सभी देशवासियों का तनमन पुलकित हो उठा तथा राष्ट्रगान सुन हर भारतीय का मन भाव से भर गया।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मन की बात माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी ने 21 जून को अन्तर्राष्टीय योग दिवस का जिक्र करते हुए देशवासियों को ‘‘फिट इण्डिया अभियान‘‘ से जुड़ने के लिए आमंत्रित किया, प्रधानमंत्री जी ने कहा कि बिना खर्चे का फिट इण्डिया अभियान का नाम है-योग। उन्होंने देश के कई हिस्सो से आये पत्र पढकर बताया कि कैसे योग से लाभान्वित लोग अपने अनुभव से साझा कर रहे है। इसके साथ आगे वह देशवासियों से खासकर छात्र छात्राओं को आवाह्न करते हुए भारत सरकार के स्वच्छ भारत-समर इन्र्टनाशिप 2018 के बारे में जानकारी देते हुए कहते है कि छात्र-छात्राओं को इस समरविकेशन पर स्वच्छता के कामों में योगदान देना चाहिए, उन्होंने कहा कि 2 अक्टूबर को गांधी जी की 150वीं जयन्ती से पहले समर इन्र्टनाशिप में सहभागिता करने वाले छात्र छात्रओं द्वारा स्वछता को बल मिलेगा तथा उनके किये गए प्रयासों से उन्हें संतुष्टि भी मिलेगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने एक टीवी कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कुछ युवाओं की तारीफ करते हुए बताया कि दिल्ली में कैसे कुछ युवा अपने काम-काज के बीच से 2 घण्टे का समय निकालकर निःशुल्क झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले बच्चों की पढ़ाई करवा रहे हैं।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने मन की बात में जल संरक्षण बचाने का संदेश देते हुए कहा कि कैसे हमें हर एक बूंद जल को बचाने के लिए प्रेरित किया तथा सरकार द्वारा किये गए प्रयास की चर्चा करते हुए कहा कि उन्होंने भारत सरकार द्वारा मनरेगा का बजट भी जनसंरक्षण के काम आता है। उन्होंने कहा कि 2017-18 में मनरेगा के जलसंरक्षण व्यवस्था के लिए दिये गए 64 हजार करोड़ के कुल व्यय का 55 फीसदी जलसंरक्षण जैसे कामों पर खर्च किया गया। जिससे जल संरक्षण व जल प्रबंधन से 150 लाख हेक्टेयर भूमि को अधिक मात्रा में लाभ मिला है। भारत सरकार द्वारा मनरेगा में जो धनराशि से जो पैसा दिया जाता है। उसका कई लोगों ने लाभ उठाया है। मोदी जी ने उदाहरण देते हुए कहा कि कैसे केरल में 7 हजार मनरेगा में काम करने वाले लोगो ने 70 दिनों तक कड़ी मेहनत से नदी को पुर्नजीवित कर दिया।

डॉ० पाण्डेय ने मोदी जी ने देशवासियों को आने वाले रमजान के पवित्र महीने की शुभकानाएं देते हुए पैगम्बर मोहम्मद साहब के उपदेश का जिक्र किया तथा बताया कि एक बार इंसान ने पैगम्बर साहब से पूछा कि इस्लाम में सबसे अच्छा कार्य कौन सा है। मोहम्मद साहब ने कहा कि किसी गरीब व जरूरतमंद को भोजन कराना और सभी से सद्भावपूर्ण मिलना तथा पैगम्बर साहब कहते थे की अगर आप के पास कोई चीज जरूरत से ज्यादा है तो आप उसे दान दे दें। रामजान के पवित्र महीने में दान का भी बड़ा महत्व है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने बुद्ध पूर्णिमा प्रत्येक भारतीय के लिए एक विशेष दिवस बताते हुए कहा कि हमें गर्व होना चाहिए कि भारत करूणा, सेवा और त्याग की शक्ति दिखाने वाले महामानव भगवान बुद्ध की धरती है। जिन्होंने विश्वभर में लाखों लोगों का मार्गदर्शन किया। बुद्ध पूर्णिमा भगवान बुद्ध को स्मरण करते हुए उनके रास्ते पर चलने का, संकल्प करने का पुनः स्मरण करता है। बाबा साहब आम्बेडकर भी जोर देकर कहते थे कि सविधान के माध्यम से दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित करोड़ो लोगों को सशक्त बनाया। करूणा का इससे अच्छा उदाहरण नहीं हो सकता, लोगो की पीडा के लिए यह करणा भगवान बुद्ध के सबसे महान गुणों में एक थी।