यह जनता का सौभाग्य है कि देश को नरेंद्र मोदी जैसा प्रधानमंत्री मिला है – डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय

काशी को जलमार्ग से जोड़कर मोदी जी ने अद्भुत कार्य किया है।

लखनऊ 11 नवम्बर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि यह प्रदेश की जनता का सौभाग्य है कि देश को मोदी जी जैसा प्रधानमंत्री मिला। उन्होंने कल प्रधानमंत्री के काशी आगमन पर कहा कि भारत की आन-बान-शान के लिए अहर्निश काम करने वाले प्रधानमंत्री मोदी जी के कल अपने 15वें दौरे पर काशी पधार रहे है। भाजपा अध्यक्ष प्रधानमंत्री मोदी जी कल काशी आगमन की तैयारी में काशी में है। उन्होंने कहा कि जिस तरह कल लगभग 2500 करोड़ की विकास परियोजनाओं का कल लोकार्पण कर काशी वासियों तथा देश की प्राचीनतम् नगरी काशी आने वाले दुनिया भर के लोंगों को विकास कार्यो का तोहफा देकर अभिनंदनीय कार्य करेगें बल्कि काशी की सम्मानित जनता से किये गए वायदों को भी पूरा करने का कार्य करेंगे।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी जी हैं, जिन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र बनारस को क्योटो बनाने का वादा किया तो साढ़े चार साल में ही इस दिशा में बहुत काम किया। नरेंद्र मोदी जैसे जननायक के ही बस की बात है कि एक ओर उनके मनमस्तिष्क में हर पल अपने संसदीय क्षेत्र और वहां की जनता के विकास की बात रहती हो तो उसी के साथ पूरे देश के विकास और देश की समग्र जनता के उत्थान, गरीबी उन्मूलन, सभी पिछड़े इलाकों के बुनियादी विकास, उद्योग-धंधों का विकास और जनता का भविष्य सुरक्षित रखने वाली नीतियां बनाने और जनता तक पहुंचाने के लिए दिनरात काम करते हैं। मोदी जी का बार-बार बनारस जाना यह सिद्ध करता है कि वे जननायक ही नहीं, बल्कि संवेदनशील व्‍यक्ति हैं, जिन्हें अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों की चिंता है।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि मोदी जी के कार्यकाल में बनारस में जो विकास हुआ है, वह अकल्पनीय है। उन्होंने कहा कि विकास योजनाओं में प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद बहुत तेजी से कार्य हुए है। किसी ने कल्पना नहीं की थी कि बनारस से गंगा में क्रूज जहाज चलेगा, पर मोदी जी ने चलाया। मोदी जी देश के पहले वाराणसी-हल्दिया वॉटर हाइवे के मल्टी मॉडल टर्मिनल का शुभारंभ करेंगे। पीएम कोलकाता से पेप्सिको उत्पादों के कंटेनर लेकर चले मालवाहक जहाज ‘टैगोर’ को रिसीव करेंगे। तथा वाराणसी सागरमाला प्रॉजेक्ट से जुड़ेगा। हल्दिया जलमार्ग शुरू होने से सागरमाला प्रॉजेक्ट के जरिए भारत दक्षिण एशिया के कारोबार में चीन के मुकाबले अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करा सकेगा। वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री मोदी ने ही सागरमाला प्रॉजेक्ट की शुरुआत की थी ताकि सड़क, विमान के अलावा बदंरगाहों के जरिए भी आर्थिक रूट बन सके और देश में कारोबार को गति मिल सके।
डॉ० पाण्डेय ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी 206 करोड़ की लागत से रामनगर में बने मल्टी मॉडल टर्मिनल का लोकार्पण करने के साथ काशीवासियों को 2400 करोड़ से अधिक का दिवाली गिफ्ट देंगे। बनारस टर्मिनल, वाराणसी-बाबतपुर हाइवे और रिंग रोड काशी को मिलेगा। जो लोग पूछते हैं कि वाराणसी क्योटो बना? उनके लिए यह प्रमाण है कि काशी क्योटो बन रहा है। उन्होंने कहा कि काशी के विकास की हजारों करोड़ की परियोजनाएं चल रही हैं। मोदी जी ने वाराणसी को विकास की नई दिशा दी है।

डॉ० पाण्डेय ने कहा कि पिछली सरकारों में बनारस बिजली के उलझे तारों की तरह अव्यवस्थाओं से उलझा हुआ था। आज काशी विश्वस्तरीय नगरी बनने की ओर अग्रसर है। मोदी जी काशी को एक ओर विश्व के अग्रणी नगर के रूप में परिवर्तित कर वैश्विक पर्यटन स्थल बना रहे हैं और यह कार्य काशी की परंपराओं-पौराणिकताओं को बचाते हुए किया जा रहा है। मोदी जी की काशी के बदलाव का प्रमाण है कि बाबतपुर एयरपोर्ट पर आने वाले पर्यटकों की संख्या 11 लाख हो गई है।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि काशी ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक के बड़े हब के तौर पर उभर रहा है। रिंग रोड की फाइल को पिछली सरकार ने दबाकर रखा था। राज्य में योगी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनते ही बनारस के रिंग रोड पर काम चालू कर दिया गया, जो बनारस की सूरत बदल देगी। काशी रिंग रोड के निर्माण से सिर्फ काशी ही नहीं, आसपास के जिलों को भी लाभ मिलेगा। वाराणसी शहर के भीतर और दूसरे राज्यों से जोड़ने वाली सड़कों का विस्तार किया जा रहा है। उन्होंने कहा बीएचयू में आधुनिक ट्रॉमा सेंटर हजारों लोगों के जीवन को बचा रहा है। नए कैंसर और सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल लोगों को इलाज की आधुनिक सुविधाएं दे रही है। बीएचयू ने एम्स के साथ एक वल्र्ड क्लास हेल्थ इंस्टीट्यूट बनाने के लिए समझौता किया है।

मोदी जी ने बीएचयू में वैदिक विज्ञान केंद्र का शिलान्यास किया है तो दूसरी तरफ अटल इन्क्यूबेशन सेंटर की भी शुरुआत हुई है। हम सभी को जितना अपनी पुरातन संस्कृति और सभ्यता पर गर्व है उतना ही भविष्य की तकनीक के प्रति हमारा आकर्षण है।

दुनिया भर के नेताओं को काशी की सैर कराकर मोदी जी ने काशी को विश्व के पर्यटन मानचित्र पर जो गौरव दिलाया है, वह पूरे पूर्वी उत्तर प्रदेश के आर्थिक विकास की धुरी बनेगा। दुनियाभर में बसे भारतीयों का कुंभ काशी में लगेगा। प्रधानमंत्री मोदी काशी में पर्यटन से परिवर्तन का अभियान चला रहे हैं। बुद्धा थीम पार्क, सारंग नाथ तालाब, गुरुधाम मंदिर, मारकंडेय महादेव मंदिर जैसे अनेक स्थलों का सुंदरीकरण किया जा चुका है।
प्रदेश अध्यक्ष डॉ० पाण्डेय ने कहा कि काशी देश के चुनिंदा शहरों में शामिल हैं, जहां घरों में पाइप से कुकिंग गैस की सुविधा मिलने जा रही है। वाराणसी शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों को भी सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं पहुंचाई गई हैं।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मोदी जी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के साथ प्रदेश को इतना दिया है, जितनी कल्पना नहीं की गई थी। जिन्हें बिजली सुलभ नहीं मिल पाती थी, उन्हें सौभाग्य योजना के अंतर्गत निःशुल्क बिजली मिल रही है। विगत चार वर्षों के दौरान विद्युतीकरण का काम शुरू हुआ है, 52 लाख परिवारों को सौभाग्य योजना के तहत निःशुल्क बिजली देने का कार्य भी हुआ है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष को यह देखकर कुढ़न होती है कि कोई प्रधानमंत्री विदेशों में देश का गौरव व पहचान स्थापित करने के साथ ही देश के सभी राज्यों व अपने संसदीय क्षेत्र पर इतना ध्यान कैसे दे सकता है?
डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि मोदी जी के बार-बार काशी आने की प्रशंसा होनी चाहिए कि देश में पहली बार कोई प्रधानमंत्री ऐसा मिला है, जो अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों को अपना परिवार मानकर उनका विकास, कल्याण व उत्थान बिना भेदभाव व तत्परता से कर रहा है।