यूपी नगर निकाय चुनाव और गुजरात व हिमाचल विस चुनाव में खिलेगा प्रचंड बहुमत का कमल- डॉ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

– भाजपा के सुशासन व निकाय चुनाव में कमल ही कमल खिलेगा विकास के कार्यो से घबराया विपक्ष

लखनऊ 13 नवम्बर 2017, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने सोमवार को कहा कि देश के नागरिकों, गरीबों, दलितों, महिलाओं को सामाजिक व आर्थिक रूप से सबल बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भष्टाचार और कालेधन के खिलाफ निर्णायक युद्ध छेड़ा है। जनता ने देश के विभिन्न राज्यों में हुए चुनावों में लगातार भाजपा को बहुमत से जिताकर नोटबंदी और वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) का विरोध कर रहे विपक्ष को करारा जवाब दिया है। इस बार भी जनता लूट-खसोट, भ्रष्टाचार और विकास विरोधी चेहरे वाली सपा, कांग्रेस और बसपा को सबक सिखाते हुए उत्तर प्रदेश के नगर निकाय चुनाव और गुजरात व हिमाचल विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत से कमल खिलाकर देने वाली है।

डॉ0 पाण्डेय ने कहा कि मध्यप्रदेश के चित्रकूट के उपचुनावों के नतीजों को लेकर हवाई किले बना रहे सपा, कांग्रेस और बसपा जमीनी हकीकत से भाग रही है। चित्रकूट कांग्रेस की परंपरागत और मजबूत सीट होने के बावजूद उसे जीतने के लिए कांग्रेस को नाकों चले चबाने पड़े। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा भ्रष्टाचार मिटाने के लिए नोटबंदी, बेनामी संपत्ति कानून और देश के आर्थिक विकास के लिए जीएसटी जैसे क्रांतिकारी कानून को लाने के बाद गुजरात, महाराष्ट्र, बंगाल, केरल सहित कई राज्यों के निकाय चुनावों और उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव में जनता ने भाजपा को अभूतपूर्व जीत दिलाकर विपक्षियों के कुप्रचार को मुंहतोड़ जवाब दे दिया है।

डॉ0 पाण्डेय ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार द्वारा रिकार्ड समय में किए गए जनहित के कार्यों से सपा, कांग्रेस और बसपा में हताशा-निराशा है। हार के डर से सपा के मुखिया अखिलेश ने उत्तर प्रदेश के निकाय चुनावों में रैली न करने का फैसला किया है, जबकि जनाधारहीन कांग्रेस और बसपा केवल जुबानी तीर चला रहे हैं। विपक्षी पार्टियों के पास जनता के सामने पेश करने को कोई ठोस तथ्य नहीं हैं, इसलिए इन पार्टियों ने घोषणा पत्र देने से इनकार कर दिया है।

प्रदेश अध्यक्ष ने सपा मुखिया अखिलेश यादव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर को आईना दिखाते हुए कहा कि इनके शासनकाल में प्रदेश की जनता बुनियादी सुविधाओं को तरसती थी और भ्रष्टाचार से त्रस्त थी। केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार ने जनता के विकास और भ्रष्टाचार के विनाश के लिए अप्रत्याशित कदम उठाए हैं। भाजपा द्वारा जनता के समक्ष निकाय चुनाव के संकल्प पत्र के रूप में नगरीय क्षेत्रों में बिजली, हर घर को स्वच्छ पानी का कनेक्शन, सडक, सार्वजनिक परिवहन, सुंदरीकरण, स्वच्छ जनजीवन, भ्रष्टाचारमुक्त व्यवस्था, करों के संग्रहण के लिए ऑनलाइन व पारदर्शी प्रणाली और अंतर्राष्ट्रीय स्तर का नागरिक जीवन देने के लिए ब्लू प्रिंट पेश किया है। भाजपा सरकार के कार्यों का लाभ जनता को मिल रहा है और जनता भाजपा के साथ और मजबूती से खड़ी हो गई है। इसलिए विपक्षी पार्टियां चुनाव में अपनी हार सुनिश्चित मानकर फिर से जनविरोधी रवैया अपनाते हुए नोटबंदी और जीएसटी का रोना रो रही हैं। पर अब जनता समझदार हो गई है और विपक्ष के झांसे में नहीं आने वाली है।