सभागार में उपस्थित सम्मानित कार्यकर्ता भाइयों एवं बहनों,
जैसा कि आप सभी को विदित है कि, हम सभी गंगा के पावन तट पर स्थित ब्रह्मा जी की तपोस्थली एवं भारत के प्रथम स्वतंत्रता आन्दोलन में अग्रणी भूमिका निभाने वाले नाना साहेब, तात्या टोपे की कर्मभूमि, रानी लक्ष्मीबाई की बाल्यस्थली एवं हम सभी के मार्गदर्शक पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की कर्मस्थली एवं तपोभूमि पर उनके जन्म शताब्दी वर्ष में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में एकत्रित हुए हैं। हम सभी इस पावन भूमि को नमन करते हैं। आज 12 अक्टूबर का दिन हम सभी के लिए इस रूप में भी महत्वपूर्ण है कि आज हम सभी की आदरणीया स्व0 राजामाता विजयाराजे सिन्धिया जी की जन्म जयंती भी है।

सर्वप्रथम मैं समस्त मंचासीन राष्ट्रीय नेताओं, मंच के सम्मुख विराजमान भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के सभी सम्मानित सदस्यों का हार्दिक स्वागत, वंदन अभिनंदन करता हूँ। जिस प्रकार हम सभी पार्टी को परिवार मानते हुए सेवा एवं समर्पण भाव से कार्य करते रहे हैं वह सेवाभाव आगे भी बनाये रखेंगे तथा संगठन के लिए समर्पित वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के मार्गदर्शन में मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष मा0 अमित शाह जी के सपनों के भारत को साकार करने में अपनी महती भूमिका का निर्वहन करेंगे।

कानपुर की यह पवित्र धरती अपनी सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, शैक्षणिक, औद्योगिक, धार्मिक एवं आर्थिक महत्‍व के लिए विश्व प्रसिद्ध है। इस पावन धरती का नाम महाभारत के नायक कर्ण से भी जुड़ा हुआ है तथा कर्ण के नाम पर ही इसका पहले नाम करनापुर भी रहा है। ऐसी मान्यता भी है कि माता सीता ने कुछ समय यहाँ अपने पुत्रों लव एवं कुश के साथ व्यतीत किया था। कानपुर को एक समय में विश्व पटल पर पूरब का मैनचेस्टर भी कहा जाता था यह अपने विश्व प्रसिद्ध शैक्षणिक संस्थानों, आयुध फैक्ट्री, वस्त्र उद्योग के लिए आज भी बहुत प्रसिद्ध है।

यह नगर हिन्दी साहित्य के पुरोधाओं आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी, गणेश शंकर विद्यार्थी, पंडित प्रताप नारायण मिश्र, आचार्य गया प्रसाद शुक्ल ’सनेही’ तथा बालकृष्ण शर्मा ’नवीन’, मुंशीराम शर्मा ’सोम’ के साहित्यिक रचना संसार का भी केन्द्र रहा है। ’’विजयी विश्व तिरंगा प्यारा-झण्डा ऊँचा रहे हमारा’’ के रचयिता श्री श्याम लाल गुप्ता जी कानपुर से संबंध रखते हैं। हमारे परम आदरणीय नेता, पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने स्नातक एवं स्नातकोŸार शिक्षा डी.ए.वी. कालेज से ग्रहण की तथा वर्तमान राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी भी इस जिले के निवासी हैं तथा यह उनके राजनेतिक जीवन का भी केन्द्र रहा है। जनसंघ का प्रथम अधिवेशन कराने का गौरव भी कानपुर को प्राप्त है।
कार्यकर्ता भाइयों एवं बहनों,

यह वर्ष सम्पूर्ण भारत में पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी के जन्म शताब्दी वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। पं0 दीनदयाल जी के शैक्षणिक जीवन के कुछ वर्ष कानपुर में व्यतीत हुए तथा यहाँ पर ही उन्होंने अपने सहपाठी मित्रों बाल जी महाशब्दे व श्री सुन्दर सिंह भण्डारी जी के साथ मिलकर समाज एवं राष्ट्र-निर्माण के लिए संघ के माध्यम से कार्य प्रारंभ किया। आज के समय में जब सम्पूर्ण विश्व में भौतिकवादी एवं उपभोक्तावादी संस्कृति जड़ें फैला रही हैं एवं परहित के स्थान पर स्वहित सर्वोपरि हो चुका है, पंडित जी केे ’एकात्म मानववाद’ व ’अन्त्योदय’ का सिद्धान्त आज भी प्रासंगिक तथा हम सभी के लिए प्रेरणा स्रोत है। पं0 दीनदयाल जी के बताये हुए मार्गों का अनुसरण करते हुए हम भारत को सम्पूर्ण विश्व में एक सशक्त राष्ट्र के रूप में स्थापित करेंगे। पंडित जी का कहना था कि-


’’हमें यह सोचना चाहिए कि हम अब तक की दुनिया की प्रगति में अपना भी योगदान कर सकें, केवल स्वार्थी न रहकर दुनिया की प्रगति में सहयोगी बनें।’’

साथियों, दीनदयाल जी के ’अन्त्योदय’ एवं ’एकात्म मानवाद’ के उद्देश्यों को ध्यान में रखकर ही केन्द्र में मोदी जी एवं उत्तर प्रदेश में योगी जी की सरकार कार्य कर रही है, संगठन का प्रत्येक कार्यकर्ता इस हेतु सतत् प्रयत्नशील है।
किसी भी राजनैतिक दल की सफलता काफी हद तक मजबूत एवं प्रभावी संगठन पर निर्भर करती है। किसी ने ठीक ही कहा है कि ’’चाहे कोई भी दल कितनी भी सही नीतियाँ बना ले वह एक अच्छे और मजबूत संगठन के अभाव में प्रभावी नहीं हो सकता।’’ जिस प्रकार संसदीय लोकतंत्र की सफलता राजनीतिक दलों पर निर्भर करती है, ठीक उसी प्रकार राजनीतिक दल की सफलता उसके संगठन पर निर्भर करती है।

पंडित जी ने एक बार संगठन की महत्‍व पर बल देते हुए कहा था कि ’’हमें इस प्रकार कार्य करना है कि आज का विरोधी कल हमारा मतदाता बने। कल का मतदाता परसों हमारा सदस्य और परसों का सदस्य हमारा सक्रिय कार्यकर्ता बनें।’’
भारतीय जनता पार्टी को भारतीय राजनीतिक जगत की अजेय ताकत के रूप में स्थापित करना ही पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के शताब्दी वर्ष में सच्ची श्रद्धांजली होगी। आज हम सभी सौभाग्यशाली हैं कि सम्पूर्ण भारत में पार्टी संगठन को विस्तारित करने के पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के सपनों को सच होते देख रहे हैं। 70 वर्ष पूर्व दीनदयाल जी की अभिलाषा असंख्य पार्टी कार्यकर्ताओं की पीढ़ियों के अथक प्रयासों से सत्य एवं वास्तविकता में परिवर्तित हो चुकी है।

आज जब देश एवं प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है ऐसे में हमारे ऊपर यह दायित्व और बढ़ जाता है। जनता ने जिस प्रचंड बहुमत से केन्द्र में मा0 नरेन्द्र मोदी जी तथा उत्तर प्रदेश में मा0 योगी आदित्यनाथ जी की सरकार बनायी है, हमें उनके सपनों को वास्तविकता के धरातल पर संगठन के कार्यकर्ताओं के परिश्रम व सहयोग से पूरा करना है।

प्रसिद्ध विद्वान जॉन रॉल्‍स (John Rawls) ने अपनी पुस्तक ‘A Theory of justice (अ थ्योरी आॅफ जस्टिस) में लिखा है कि ’’कोई भी जंजीर उतनी ही मजबूत है जितनी उसकी सबसे कमजोर कड़ी।’’ इसी तरह किसी राष्ट्र को यदि मजबूत बनाना है तो उसे अपनी सबसे कमजोर कड़ी पर ध्यान देना होगा। दीनदयाल जी के ’’अन्त्योदय’’ को केन्द्र में रखकर मा0 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने ’सबका साथ सबका विकास’ के माध्यम से गरीबों, किसानों, नौजवानों, महिलाओं, पिछड़ों, वनवासियों, अल्पसंख्यकों के साथ-साथ आम जन के विकास के लिए अनेक योजनाओं का प्रारम्भ किया। सरकार की इन योजनाओं को जन-जन तक पहुँचाने में सरकार के साथ-साथ संगठन के करोड़ों कार्यकर्ता भी निःस्वार्थ भाव से लगे हुए हैं।

पं॰ दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष के अवसर पर मई 2017 से सितम्बर 2017 के मध्य भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश द्वारा 17 प्रकार के कार्यक्रम किये गये।

  •  जन सम्पर्क अभियान- प्रदेश के 92 जिलें में 1471 मण्डल के 13178 सेक्टर पर 1 लाख 46 हजार 891 बूथों पर 15948 अल्पकालिक विस्तारकों द्वारा 1 लाख 19 हजार 818 बूथ समितियों पर बैठक की 92838 चौपाल लगाई जिसमें 10 लाख 81 हजार 774 नये सदस्य बनाये कुल 27 लाख 60 हजार 854 जनता से सम्पर्क हुआ।
  • जनकल्याण सम्मेलन में केन्द्र सरकार के 1 लाख 62 हजार लाभार्थी उपस्थित हुए जिन्हें सम्मानित किया गया।
  • वृक्षारोपण- प्रदेश के 1 लाख 27 हजार 376 बूथों पर वृक्ष लगाने का कार्य किया। कुल 9 लाख 80 हजार 705 पौधें लगाये गये।
  • जिला संगोष्ठी- प्रदेश के 91 जिलें में जिलास्तरीय प्रबुद्धवर्ग संगोष्ठी में जनसंघ काल प्रमुख सदस्यों को सम्मानित किया गया। कुल 46949 उपस्थिति हुई।
  • क्षेत्रीय संगोष्ठी- प्रदेश के सभी क्षेत्रों में क्षेत्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया, कुलपति, शिक्षाविद, साहित्यकार, प्रबुद्धजन उपस्थिति रहे। कुल 2015 संख्या सम्मलित हुये।
  • सेवा सहयोगी संगम प्रदेश के 90 जिलों में संगोष्ठी सम्पन्न हुई। कुल 22 हजार 931 व्यक्तियों की उपस्थिति हुई।
  • रक्त परीक्षण- कुल 1471 मण्डलों के 1471 स्थानों पर रक्त परीक्षण शिविर लगाये गये। 1 लाख 33 हजार 444 व्यक्तियों का रक्त परीक्षण किया गया एवं इनकी सूची बनाई गयी।
  • रक्तदान शिविर- प्रदेश के 92 जिलें में रक्तदान कार्यक्रम आयोजित किये गये 1 लाख 40 हजार 475 लोगों की ब्लड़ डायरेक्ट्री बनी है। कुल 6045 यूनिट रक्तदान किया गया।
  • सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता- कुल 1471 मण्डल पर 10164 स्कूलों में 13 लाख 637 विद्यार्थीयों का पंजीकरण किया गया, पूरे प्रदेश में एक ही दिन परीक्षा आयोजित कि गयी, 11 लाख 39 हजार 597 छात्रों की उपस्थिति रही, मेधावियों को पुरस्कृत किया गया।
  • किसान कल्याण सम्मेलन- किसान मोर्चा द्वारा प्रदेश के 75 जिलों में आयोजित किया गया, 58 हजार 415 लाभार्थी आये, 1 लाख 20 हजार 720 किसान उपस्थित हुए, 3519 किसानों को सम्मानित किया गया।
  • युवा मोर्चा द्वारा प्रदेश के 90 जिलों में तीन दिवसीय खेल उत्सव जिसमें क्रिकेट, कबड्डी, हाॅकी, फुटवाल एवं बालीवाल का आयोजन किया गया, 51 हजार 537 खिलाड़ी पंजीकृत हुए, 1 लाख 41 हजार 260 दर्शक उपस्थित हुये।
  • युवा मोर्चा द्वारा प्रदेश के 90 जिलों में कला संगम नृत्य, कवि, गायन एवं चित्रकला का आयोजन किया गया, जिसमें कुल 20 हजार 211 कलाकारों की भागीदारी रही व 57 हजार 115 दर्शक आये।
  • महिला मोर्चा द्वारा प्रदेश के 1074 स्थानों पर महिला स्वास्थ्य परीक्षण शिविर लगाया गया जिसमें 5300 मण्डल समितियां उपस्थित हुई कुल लाभार्थी महिलाओं की संख्या 1 लाख 65 हजार 206 थी।
  • महिला मोर्चा द्वारा मातृत्व सेवा सम्मान समारोह 88 जिलों में सम्पन्न हुआ जिसमें कुल 73109 आशा बहुं एवं स्वयं सहायता समूह की उपस्थिति रही।
  • पिछड़ा वर्ग मोर्चा प्रदेश के सभी जिलों में प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें 4417 प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। जिसमें लोगों उपस्थिति 77 हजार 700 रही।
  • अनुसूचित मोर्चा द्वारा 83 जिलों में कैरियर काउंसलिंग एवं प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें सम्मानित 49 हजार 300 को सम्मानित किया गया एवं 1 लाख 20 हजार लोगों की उपस्थिति रही।
  • अल्पसंख्यक मोर्चा द्वारा प्रदेश के 84 जिलों में जिला स्तरीय (तीन तलाक विषय) पर संगोष्ठी कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। जिसमें 34 हजार 650 लोगों की उपस्थिति रही ।
  •  प्रदेश में कुल कार्यविस्तार योजना के लिए कुल 212 विस्तारक का प्रशिक्षण वर्ग आयोजित किया गया। जिनमें 196 विस्तारक विधानसभाओं कार्य कर रहे है। 16 विस्तारक अन्य प्रान्तों में जायेंगे।

राष्ट्रीय अभियान

  • योग दिवस- 1362 मण्डलों में मनाया गया।
  • केन्द्र सरकार के 3 वर्ष पूर्ण होने पर 3 साल बेमिसाल कार्यक्रम मनाया गया।
  • सबका साथ-सबका विकास, तिरंगा यात्रा, संकल्प से सिद्धि कार्यक्रम प्रदेश के 84 जिलों में सम्पन्न हुआ। प्रदेश के सभी 511 प्राथमिक विद्यालय को गोद परम्परा के आधार पर पार्टी के सांसद, विधायक, प्रदेश पदाधिकरी, क्षेत्रीय पदाधिकारी, जिला प्रभारी, जिलाध्यक्ष द्वारा स्वच्छता की गयी एवं बच्चों के बीच मिष्ठान वितरण किया गया एवं विद्यालय के विकास के कार्य की दिशा में शुरूआत की गयी।

1. मा0 नरेन्द्र मोदी जी के जन्म दिवस के अवसर पर 17 सितम्बर से 2 अक्टूबर बीच स्वच्छता अभियान, स्वच्छता ही सेवा है, मैराथन दौड़, ’संकल्प से सिद्धि तक’, स्वच्छता का संकल्प के माध्यम से विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये जिसमें कार्यकर्ताओं एवं आमजन की भारी भागीदारी रही।

मा0 प्रधानमंत्री मोदी जी ने लाल किले की प्राचीर से हमें संकल्प दिलाया है कि भारत को स्वच्छ रखेंगे, जातिवाद, साम्प्रदायवाद, आतंकवाद, भ्रष्टाचार, गरीबी से मुक्त करायेंगे। हम मा0 प्रधानमंत्री जी के इस संकल्प को जन आन्दोलन के माध्यम से स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत बनायें।

मा0 मोदी जी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार-जनधन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, अटल पेंशन योजना, सुकन्या समृद्धि योजना, दुर्घटना बीमा योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना, स्वच्छ भारत मिशन, गैस सब्सिडी, उज्जवला योजना, नमामि गंगे, फसल बीमा योजना, इन्द्र धनुष योजना, कौशल विकास, मुद्रा लोन, दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना इत्यादि के माध्यम से जन-जन के कल्याण के लिए कार्य कर रही है तथा इस कार्य को सफल बनाने में हमारे कार्यकर्ताओं की भूमिका महत्वपूर्ण है।

नोटबंदी, कालेधन एवं GST जैसे जनहित के विषय पर आम जनता हमारे साथ खड़ी थी वहीं विपक्ष ने उसे एक आर्थिक दुर्घटना के रूप में प्रचारित कर लोगों को दिग्भ्रमित करने की कोशिश की। हम सभी कार्यकर्ताओं ने इन दुर्भावनापूर्ण प्रयासों को सफल नहीं होने दिया और प्रदेश की जनता जर्नादन ने विपक्ष की घेरेबन्दी का मुँहतोड़ जवाब देते हुए विधानसभा चुनावों में ऐतिहासिक विजय देकर मा0 मोदी जी की नीतियों पर अपनी मुहर लगाई।

उत्तर प्रदेश सरकार को जिन अपेक्षाओं के साथ जनता ने व्यापक जनादेश दिया है सरकार उन अपेक्षाओं पर पूरी तरह खरा उतरने के प्रति प्रतिबद्ध है। शपथ ग्रहण के तुरन्त बाद प्रदेश के युवा, तपस्वी मुख्यमंत्री मा0 योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व वाली प्रदेश की सरकार ने चुनाव संकल्प-पत्र को ईमानदारी से लागू करना प्रारम्भ कर दिया है। इस कड़ी में केन्द्रीय योजनाओं को वास्तविक धरातल पर उतारने के साथ भ्रष्टाचार एवं भयमुक्त उत्तर प्रदेश बनाने का दृढ़ संकल्प लेते हुए एंटी रोमियों स्क्वाड का गठन, भूमाफिया टास्क फोर्स का गठन, किसानों की ऋण माफी, सड़क, शिक्षा, चिकित्सा, बिजली, पानी, कृषि आदि के क्षेत्र में सुधार हेतु अभूतपूर्व कदम सरकार उठा रही है जिससे प्रदेश की 22 करोड़ जनता की दशा एवं दिशा में सुधार होगा।

कांग्रेस, सपा एवं बसपा एक रचनात्मक विपक्ष की भूमिका को छोड़कर निरंतर नकारात्मक प्रचार के माध्यम से पूरे प्रदेश के माहौल को खराब करने में लगा हुआ है एवं साम्प्रदायिक एवं छद्म धर्म निरपेक्षता वादियों द्वारा पूरे प्रदेश के वातावरण को लगातार खराब करने की कोशिश की जा रही हैं तथा जाति, धर्म, क्षेत्र के आधार पर लोगों को बांटने का कार्य किया जा रहा है। पूर्व की कांग्रेस, बसपा एवं सपा सरकारों द्वारा किया गया भ्रष्टाचार, अराजकता, राजनीतिक अपराधीकरण हमें विरासत में मिला किन्तु इतनी अल्प अवधि में हमने इसको नियंत्रित किया। आज हम गंुडाराज, भ्रष्टाचार आदि संगठित अपराध पर नियंत्रण स्थापित करते हुए आगे बढ़ रहे हैं।

हमारा दायित्व और बढ़ जाता है कि हम अनुशासन एवं राजधर्म की मर्यादा का पालन करते हुए सुशासन स्थापित कर देश एवं प्रदेश की सरकारों द्वारा उठाये गये विभिन्न कदमों की जानकारियाँ जन-जन तक पहुँचायें, ’’सबका साथ-सबका विकास’’ के परिकल्पना के साथ मा0 मोदी जी, मा0 अमित शाह जी के नेतृत्व में भारत को दुनिया का सिरमौर्य बनायें।

भारतीय जनता पार्टी आप सभी कार्यकर्ताओं का हृदय से सम्मान करती है, मैं प्रदेश अध्यक्ष के नाते आप सभी को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि आपके मान-सम्मान का भरपूर ख्याल रखा जायेगा।
मैं, सम्मानीय राष्ट्रीय नेतृत्व के प्रति हृदय से कृतज्ञता ज्ञापित करता हूँ कि उन्होंने मुझ जैसे सामान्य कार्यकर्ता को प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व सौंपा है। आप सभी के आशीर्वाद, सहयोग, परिश्रम एवं लगन के बल पर पार्टी को प्रदेश में अपराजेय स्थिति में लाने का कार्य करेंगे।

कार्यकर्ता बन्धुओं,
राजनैतिक दल का आंकलन उसके द्वारा प्राप्त परिणामों से होता है। हमारे सामने नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायत, सहकारिता का चुनाव है जिसमें बूथ/वार्ड स्तर तक की सफलता सुनिश्चित करना हम सभी का राजनीतिक अभीष्ट है। हम सभी 2019 में मोदी जी के नेतृत्व में होने वाले लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर जीत हासिल कर नया कीर्तिमान स्थापित करना है। भारत के विकास में उत्‍तर प्रदेश की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है।
अन्त में मैं अपना सम्बोधन अटल जी द्वारा रचित कविता के एक अंश के माध्यम से समाप्त करना चाहूँगा।

जब तक ध्येय न पूरा होगा,
तब तक पग की गति न रूकेगी।
आज कहे चाहे कुछ दुनिया,
कल को बिना झुके न रहेगी।।’’
अब न चलेगा राष्ट्र प्रेम का गर्हित सौदा,
यह अभिनव चाणक्य न फलने देगा विष का पौधा।
तन की शक्ति, हृदय की श्रद्धा, आत्म-तेज की धारा,
आज जगेगा जग-जननी का सोया भाग्य सितारा।।
भारत माता की जय।