– योगी सरकार से जनता की समृद्धि से बेचैन कुनवा

– मोदी सरकार में 3 साल में 63 लाख नौकरियां

लखनऊ 23 अक्टूबर 2018, भारतीय जनता पार्टी ने समाजवादी पार्टी पर पलटवार करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार के जनता को सशक्त व समृद्ध बनाने की योजनाओं के परिणामस्वरूप पिछले चार सालों में देश में आयकर रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या 80 प्रतिशत से अधिक बढ़ी है। केवल तीन साल में 63 लाख नए आय करदाता बढ़े हैं, जिसका अर्थ हुआ कि मोदी सरकार में 63 लाख नई नौकरियां मिलीं तथा करोड़ो के लगभग कर्मचारी भविष्य निधि खाते। लेकिन अपने परिवार का घर भरकर प्रदेश को कंगाली और जनता को दुर्दशा में धकेलने वाले सपाई कुनवा को सत्ता लोभ के कारण देश व प्रदेश की जनता की समृद्धि व सशक्तिकरण नहीं दिख रहा है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि समाजवादी पार्टी एक परिवार के लिए सत्ता चाहती है। सपा ने अपने शासन के दौरान जनता को गरीब, लाचार व बेचारा बनाए रखा, ताकि जनता अपने अधिकारों व सशक्तिकरण के प्रति सचेत न हो और जनता को वोटबैंक बनाकर सत्ता पर कुंडली मारी जा सके। पर वह भूल गई कि प्रधानमंत्री नरेंद मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भाजपा सरकारों की प्राथमिकता ही जनता को अपने अधिकारों व सशक्तिकरण के प्रति जागरूक बनाने की है। पिछले चार साल में मोदी जी की नीतियों व योजनाओं से जनता में आत्मविश्वास उत्पन्न हुआ है और वह सशक्त व समृद्ध भारत बनाने के लिए स्वयं को भी मजबूत कर रही है।
उन्होंने कहा कि पिछले चार साल में साढ़े चार करोड़ से अधिक परिवारों ने 5 से 10 लाख करोड़ रुपए आय का रिटर्न दाखिल किया है। चालू वित्त वर्ष में ही प्रत्यक्ष कर संग्रह 4.89 लाख करोड़ रुपए रहा है और आयकर विभाग ने 1.09 लाख करोड़ रुपए की राशि के दो करोड़ लोगो को रिफंड किये गए हैं। यह साबित करता है कि मोदी राज में आम जनता की क्रय शक्ति बढ़ रही है और वह आर्थिक सशक्त हो रही है। उन्होंने कहा कि ‘कुनवा की सरकार‘ चलाने वाले सपा को भी झूठ के सरताज राहुल गांधी की संगत में पड़कर बात-बात में झूठ बोलने और गुमराह करने की आदत पड़ गयी है। सत्ता से दूर होकर मुलायम सिंह जी और अखिलेश इस कदर बेचैन हो उठे हैं कि जनता को ऊपर उठने की प्रेरणा देने के बजाय भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं। हालांकि मोदी जी की सरकार में देश व प्रदेश के हर वर्ग व हर समुदाय का जीवन स्तर सुधरा है और मुद्रा, उज्जवला, आयुष्मान भारत जैसी जनहितैषी योजनाओं से जनता का सामाजिक, आर्थिक सशक्तिकरण के साथ ही भविष्य सुरक्षित हआ है, इसलिए विपक्षी दलों की दाल नहीं गलेगी और उन्हें सत्ता सुख से वंचित ही रहना होगा।