लखनऊ 06 अक्टूबर 2017, भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि मुख्यमंत्री माननीय श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में हुई कैबिनेट बैठक में ठंडक शुरू होने से पहले सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को जूता-मोजा और स्वेटर देने का निर्णय लेना एक सराहनीय कदम है। इस निर्णय से डेढ़ करोड़ विद्यार्थी लाभान्वित होंगे। इससे साबित होता है कि प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार गरीब होनहार छात्रों की शिक्षा के लिए कितनी गंभीर है।

प्रदेश पार्टी मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि प्रदेश में पिछली सरकारों ने एक ओर जहां बेसिक शिक्षा को मजाक बना दिया था। ऐसी कोई भी योजना नहीं शुरू की थी जिससे गरीब छात्रों को निर्बाध रूप से गुणवत्ता परक शिक्षा मिल सके। प्रदेश में श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनने के बाद से लगातार शिक्षा में बेहतरी के हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। पिछले एक वर्ष में बेसिक शिक्षा का बजट 38 हजार करोड़ से बढ़ाकर 50 हजार करोड़ कर दिया गया है। इन स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षकों को भी ऐसा माहौल देने की कोशिश की जा रही है कि वे पूरी तन्मयता के साथ विद्यार्थियों को पढ़ाने में अपना ध्यान लगा सकें।

प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि पिछली सरकारों के उलट ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है जिसमें शिक्षक बेवजह अधिकारियों के दबाव में न आयें। पिछली सरकारों में शिक्षकों का तबादला उद्योग चल रहा था इसे बंद किया गया है। विद्यार्थियों के लिए गुणवत्ता परक पुस्तकों का प्रबंध किया जा रहा है। शिक्षा के इस माहौल में गरीब छात्रों की मेधा निखरकर सामने आएगी और वे राष्ट्र निर्माण में अपना अमूल्य योगदान दे पाएंगे।