प्रदेश की साकार होती औद्योगिक विकास योजनाएं प्रशंसनीय व सराहनीय प्रयास

लखनऊ 02 दिसम्बर 2018। भारतीय जनता पार्टी ने आज कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के नेतृत्व में औद्योगिक विकास ने दिशा में अत्यंत सराहनीय कार्य किया है। प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी के मार्ग दर्शन में उद्योग में निवेश को साकार होना प्रदेश की समृद्धि तथा रोजगार के अवसर की दृष्टि से अत्यन्त शुभ लक्षण है। जो प्रदेश में सुशासन व विकास दोनों की प्रामाणिकता को स्वतः प्रमाणित करता है।

प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि वर्तमान सरकार से पहले उद्यमियों और सरकार के बीच न संवाद था और न ही सेतु। ऊपर से सपा व बसपा की सरकारों ने प्रदेश को बिजली, पानी, सड़क का बुरा हाल और प्रदेश को अराजक बना डाला था, जिससे उद्यमी यहां निवेश के बारे में सोचते ही नही थे योगी जी की सरकार आने के बाद से कानून व्यवस्था-मजबूत की गयी और बिजली व बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई। इसका परिणाम यह है कि देश ही नहीं, बल्कि दुनिया भर से निवेशक उत्तर प्रदेश में उद्योग लगाने आ रहे हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा सरकार के निवेशक सम्मेलन में 5 लाख करोड़ के एमओयू साइन हुए थे। इसमें से 60 हजार करोड़ रुपए से अधिक के एमओयू के उद्योग लगाने के लिए शिलान्यास भी कर दिया गया। अब पुनः इसी माह योगी सरकार 50 हजार करोड़ रुपए के एमओयू के उद्योगों का शिलान्यास कराने जा रही है। यह प्रदेश में औद्योगिक विकास के रफ्तार पकड़ने का प्रमाण है। योगी जी की सरकार ने वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना लांच कर स्थानीय उद्योग-धंधों को वैश्विक बाजार दिलाने की पहल की है। प्रदेश में निवेश का माहौल और विश्वास बढ़ा है।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा प्रदेश में विकास की बयार चल पड़ी है, लेकिन विपक्ष अभी भी अपने समय के पिछड़े उत्तर प्रदेश के भ्रम से बाहर नहीं निकल पा रहा है। पिछली सरकारों के दौरान जिस प्रदेश की कानून-व्यवस्था, बिजली संकट और कुशासन के कारण उद्यमी सपने में भी आने को नहीं सोचते थे। उसी प्रदेश में भाजपा की योगी आदित्यनाथ जी की सरकार आने के बाद देश-दुनिया के उद्यमी निवेश करने में अवसर देख रहे हैं। उद्योग और रोजगार एक-दूसरे के पूरक हैं, इसलिए औद्योगिक विकास की इन पहलों से प्रदेश में भारी मात्रा में रोजगार सृजन भी हो रहा है।

प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि रेल पार्क, खाद्य प्रंसस्करण, वस्तुउद्योग, जैव ईधन, पर्यटन, इलेक्ट्रानिक्स विर्निमाण, नवीनकरणीय ऊर्जा, डेयरी, लैमिनेट्स आदि औद्योगिक क्षेत्रों में निवेश से आने वाले समय में लाखों युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होगें, वहीं खाद्य प्रंसस्करण तथा डेयरी जैसे उद्योग के विकास से कृषि क्षेत्र खासा लाभ मिलेगा उन्होंने कहा कि जिन औद्योगिक क्षेत्रों में निवेश होने जा रहा है। उससे सामान्य से लेकर कुशल कामगारों, इंजीनियरों तथा प्रदेश के प्रतिभाशाली युवाओं को रोजगार उपलब्ध होगें।