लखनऊ 28 दिसम्बर 2018, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने भाजपा मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि तीन तलाक पर मोदी सरकार लोकसभा में बिल पास करवाकर मुस्लिम महिलाओं के सम्मान दिलाकर उनका इंसाफ दिलाने के संकल्प को पूरा करने का कार्य रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस समेत सभी विरोधी दल के नेता, जो महिलाओं के अधिकार व सम्मान के विरोधी है इसे हिन्दु-मुस्लिम व चुनावी स्टंट बताकर महिला विरोधी चरित्र को दर्शा रहे है। उन्होंने विपक्षी दलों से पूछा कि महिलाओं को सम्मान और अधिकार दिलाना कांग्रेस को अपराध क्यों लग रहा है ? उन्होंने सवाल किया कि तीन तलाक के कारण आज देश भर की मुस्लिम महिलाएं इंसाफ के लिए भटक रही है, उनकी सुधि अगर कांग्रेस ने अपने भ्रष्टाचार, लूट के कार्यकाल में ली होती तो आज देश की महिलाओं को अंसवैधानिक तीन तलाक की मार न झेलनी पड़ती।

हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि तुष्टिकरण की राजनीति करने वाली कांग्रेस को सिर्फ मुस्लिम वोट बैंक से मतलब है लेकिन उनकी शिक्षा, उनके जीवन स्तर में सुधार लाने तथा कुरीतियों को समाप्त करने से कोई सरोकार नहीं रहा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के अधिकार व सम्मान के मुद्दे को जिस तरह विपक्ष हिन्दु-मुस्लिम में बांट रही है, यह इस देश की मुस्लिम महिलाओं के भविष्य को अंधकार में डालने जैसा है।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि विपक्षी दलों के लिए ये बिल चुनावी स्टंट, वोंट बैंक की राजनीति ही रहेगी, क्योंकि कांग्रेस केवल सत्ता पाने की राजनीति करती है। अन्याय के प्रतिकार से कांग्रेस का लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 60 सालों से जिस वोट बैंक को अपनी जागीर समझा, उसके छिटकने का डर कांग्रेस को सता रहा है। क्योंकि मोदी सरकार ने जिस तरह से सबका साथ-सबका विकास तथा भेदभाव विहीन व्यवस्था के नारे को धरातल पर उतारने का काम किया है वह निश्चित तौर पर कांग्रेस समेत विपक्षी दलों की चिंता का विषय है। विपक्ष किसी भी कीमत पर मुस्लिम महिलाओं के अधिकार व सम्मान को दांव पर लगाकर कुप्रथा की सोच से ग्रस्त लोगों को खुश कर उनके वोटों को पाने में ही लगा है।