लखनऊ 31 अक्टूबर 2018, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ० समीर सिंह ने प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि मा0 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा अनावरण राष्ट्र गौरव का विषय है। सरदार पटेल के जीवन और व्यक्तित्व हम सबके लिए प्रेरणा और श्रद्धा का विषय रहा है, उनका योगदान युवा पीढ़ी के लिए आदर्श है। उनके किए गये कार्य देश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में दर्ज है, जो हमें प्रेरणा देते है। इस के लिए हम मा0 प्रधानमंत्री जी को आभार व्यक्त करते है तथा इस ऐतिहासिक निर्णय के लिए बधाई देते है।

श्री समीर ने कहा कि आज देश और प्रदेश मोदी जी और योगी जी के नेतृत्व में नित्य विकास के रास्ते पर तेजी से बढ़ रहा है। उ0प्र0 में योगी सरकार के प्रयास से व्यापारियों एवं उद्योगपतियों में विश्वास बढ़ा है। इस का परिणाम दिखने लगा है। पिछले दिनों इनवेस्टर समिट में देश के उद्योगपतियों का उ0प्र0 में उद्योग लगाने की सहमती दी। वहीं रेल पार्क के लिए मा0 मुख्यमंत्री द्वारा किया गया शिलान्यास 3200 करोड़ के निवेश प्रस्ताव फतेहपुर ही नहीं बल्कि ओडीओपी के द्वारा रोजगार के अवसर आज युवाओं के लिए पूरे उ0प्र0 में उपलब्ध हो रहा है। योगी सरकार ने अपने निर्णयों से उ0प्र0 में उद्योग बढ़ाया है जिससे रोजगार के अवसर मिले है।

श्री सिंह ने सपा नेता पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अखिलेश यादव का आरोप कि आरएसएस सरकार चला रही है, इसकी जितनी निन्दा की जाए कम है। सपा नेता किसानों के नाम पर घडियाली आंसू बहाते है। जबकि योगी सरकार ने किसानों के लिए बड़े काम किये चाहे 36000 करोड़ की कर्जमाफी, फसल बीमा, फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाना, धान, गेहूॅ की रिकार्ड खरीद, 18 घंटे बिजली, उर्वरक की उपलब्धता इससे उर्वरक सस्ता उपलब्ध होगा। बंद शुगर मिलों को चलाना, गन्ना मूल्यों का 37000 करोड़ लगभग भुगतान। बचे हुए गन्ना मूल्य के लिए 55000 करोड़ का साफ्टलोन। जिसका परिणाम है कि किसानों का विश्वास मोदी एवं योगी सरकार में बढ़ा है। सपा नेता ने अपनी सरकार मंे किसानों की घोर उपेक्षा की। फसलें खरीदी नहीं गई, बिजली मिलती नहीं थी, सुगर मिले बेची जा रही थी, और किसानों को उर्वरक के लिए पुलिस के गुस्से का शिकार होना होता था उर्वरक किसान को मिलते नहीं थे।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि सपा नेता जिस कानून के राज की बात करते है, इनको आरएसएस और सरकार पर बयान देने से पहले अपने गिरेवां में झांकना चाहिए की इनके कार्यकाल में थानों में हत्याएं होती थी। अपराध चरम पर था, हत्या, लूट, डकैती चरम पर थी। जिसको सपा सरकार का संरक्षण था। उत्तर प्रदेश की जनता ने इनकी नीतियों से परेशान बदहाल होकर सपा को 2014 लोकसभा एवं 2017 में विधानसभा व 2018 नगर निगम चुनाव में इनको सबक सिखाया और बुरी तरह पराजित किया।

श्री समीर सिंह ने कहा कि सपा नेता का आरएसएस पर बयान उनके हिन्दू विरोधी सोच एवं हताशा का परिणाम है उनकी सरकार में रहते उत्तर प्रदेश का विकास अवरूद्ध हो गया था। आज योगी सरकार प्रदेश में चैमुखी विकास कर रही है उत्तर प्रदेश भाजपा सरकार में बदहाली से खुसहाली की तरफ बढ़ रहा है।