भाजपा प्रदेश मुख्यालय के जनसहयोग केन्द्र पर हुआ जनसमस्याओं का समाधान

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय में जनसहयोग केन्द्र पर प्रत्येक मंगलवार को जन समस्या निराकरण के अनवरत क्रम में कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, कैबिनेट मंत्री एसपी सिंह बघेल, प्रदेश उपाध्यक्ष रंजना उपाध्याय एवं प्रदेश मंत्री धर्मवीर प्रजापति जनता के दरबार में उपस्थित रहे। जनसमस्याओं के समाधान में कैबिनेट मंत्रियों द्वारा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया गया तथा संबंधित विभागों के पास समस्याओं को निस्तारण के लिए भेजा गया। कैबिनेट मंत्री एसपी सिंह बघेल ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जनता की समस्याओं का निस्तारण गुण-दोष के आधार पर किया जा रहा है। जनसहयोग केन्द्र से समाधान के लिए भेजी गई समस्याओं का समाधान हो रहा है, तभी यहां इतने लोग आ रहे है।

श्री बघेल ने मीडिया द्वारा पूछें गए प्रश्नों पर कहा कि सरकार तालाबों के पट्टे आवंटित करती है और यह पट्टा धारकों की जिम्मेदारी होती है कि वह पानी की उपलब्धता, ऑक्‍सीजन व वॉटर टेस्ट कराएं, जिसकी सुविधा हमारा विभाग उपलब्ध कराता है। नदियों के मृतप्राय होने तथा मछलियों के मरने का बड़ा कारण प्रदूषण है। सरकार ने गंगा के जल को यमुना में डालने का प्रयास किया है, जिससे पेयजल के साथ ही जल स्तर भी बढ़े और मछलियां भी न मरे। सिंचाई मंत्रालय का स्पष्ट आदेश है कि गांव में तालाब एवं मछलियों को बचाने के लिए नहर, रजवाहे, बम्बा, ट्रिब्यूटरी का आखरी छोर किसी तालाब में किया जायं।

श्री बघेल ने कहा कि मुख्यमंत्री जी का सख्त निर्देश है कि तालाबों को युद्ध स्तर पर अतिक्रमण मुक्त किया जाए और इस दिशा में तेजी से काम हो रहा है। प्रधानमंत्री जी का सपना है कि 2022 तक किसानों की आय की दोगुना किया जाए, जिसके लिए किसानों से परम्परागत खेती से के साथ पशुपालन, मुर्गीपालन, मत्स्य पालन, मधुमक्खी पालन, जैविक खेती तथा फल-फूल व औषधीय पौधों की खेती के द्वारा किसान आय दोगुना करने का प्रयास सरकार कर रही है।