कुंठा से ग्रसित होकर और अस्तित्व बचाने को हुआ सपा-बसपा का समझौता – कलराज मिश्र

इलाहाबाद/लखनऊ 06 मार्च 2018, भारतीय जनता पार्टी फूलपुर लोकसभा उपचुनाव मीडिया सेंटर पर आज पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने प्रेसवार्ता करते हुए कहा कि पूर्वोत्तर विजय पूरे भारत की जनता का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के प्रति विश्वास है और यह विजय दोनों उपचुनाव भारी अंतर से जीतने का द्योतक है।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने कहा कि पूर्वोत्तर की जीत से जिस वातावरण का निर्माण हुआ है इससे भयभीत हो मायावती जी एवं अखिलेश यादव ने समझौता किया यह समझौता कुंठा से ग्रसित है। उन लोगों लगता है कि उत्तर प्रदेश की जनता उन्हें विस्मृत न कर दे, इसलिए अखिलेश जी समझौते का प्रयोग कर रहे हैं, पर हालत यह है कि विधानसभा में किसी और के साथ और लोकसभा उपचुनाव में किसी और के साथ। उन्होंने आगे कहा कि मायावती जी का जो अपमान गेस्ट हाउस कांड में सपा द्वारा किया गया था इस अपमान को भूलकर उन्होंने जो समझौता किया है इसका कारण जनता को बताना ही चाहिए कि समझौते की ऐसी कौन सी विवशता आन पड़ी थी।

श्री मिश्र ने कहा कि अब दलित समाज यह महसूस करने लगा कि मायावती जी के साथ रहकर उनका भला नहीं हो सकता। इसलिए सामाजिक समरसता का ताना-बाना ठीक रहे इसलिए उसने भी भारतीय जनता पार्टी के साथ जुड़कर कार्य करने का मानस बनाया और दलित समाज भाजपा के साथ उन्मुख हुआ। उन्होंने माया-अखिलेश के गठबंधन को पराजित मानसिकता का गठबंधन बताया।

श्री मिश्र ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को आदर्श प्रधानमंत्री बताते हुए कहा कि अपना मुद्दा, अपनी योजना और अपनी सोच को जनता तक पहुंचाने और उसे साकार करने वाले मोदी जी पहले प्रधानमंत्री है। जो लोग विकास में बाधक थे जनता ने उन्हें पहचान कर ठुकरा दिया है।

मेघालय, नागालैंड, मिजोरम, असाम सहित पूर्वोत्तर राज्यों में सरकार बनाकर वहां के निवासियों को मुख्यधारा से जोड़ लेना बहुत बड़ा विषय है। माननीय मोदी जी ने ‘सबका साथ-सबका विकास’ की भावना को लेकर कार्य किया है और अंतिम व्यक्ति के उत्थान की योजना पर कार्य करके सबके अंतःकरण में स्थान बनाया हैं, लगातार विजय का यही एक बड़ा कारण है।