प्रदेश मुख्यालय में मोदी सरकार के 4 वर्ष पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा प्रदेश डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय की सयुक्त प्रेसवर्ता

विकास के एक नए युग का सूत्रपात्र यशस्वी प्रधानमंत्री मोदी जी ने किया – डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्‍डेय

प्रधानमंत्री मोदी जी का 4 वर्ष का कार्यकाल देश के नवउत्कर्ष का कार्यकाल है – योगी आदित्य नाथ

मोदी जी के साफ नियत से सही विकास

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय पर मोदी सरकार के 4 वर्ष पूरे होने पर प्रेसवार्ता में बोलते हुए कहा कि इस देश में साफ सुथरी व पारदर्शी सरकार के लिए मोदी जी की सरकार व पूरे देश को बधाई, जहां देश व दुनिया में सरकारो में होना और भ्रष्टाचार उसका पर्यायवची हो जाता था पर आज साफ स्वयं के नैतिक बल व दृढ चरित्र से श्री नरेद्र मोदी जी ने 4 साल एक ऐसी सरकार चलाई जो साफ-सुथरे तरीके से काम करने का श्रेष्ठ उदाहरण प्रस्तुत कर रही है और वह रिकार्ड केन्द्र सरकार तक ही सीमित नहीं बल्कि भाजपा शासित राज्य सरकारे भी नैतिकता के बल पर काम कर रही है।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने 4 वर्ष के कार्यकाल में अर्जित उपलब्धियों को गिनाते हुए बताया कि इजराइल और अमेरिका के बाद मोदी जी के ही शासनकाल में भारत ही तीसरा ऐसा राष्ट्र बना जिसने जनभावनाओं को आकार देते हुए पकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक जैसा कड़ा आपरेशन सफलता पूर्वक किया तथा लद्दाख में जहां चीन के सैनिक हमारे क्षेत्र में घुसते थे, आज हम डोकलाम में जोकि भूटान सीमा का परिक्षेत्र था लेकिन हमारी सुरक्षा के लिए खतरा था, हमने उस डोकलाम में आगे बढकर चीनी सैनिको को मल्लयुद्ध जैसी परिस्थितियां बनाकर उन्हें पीछे हटने को विवश किया जो कि विश्वस्तर पर हमारी जीत थी। दक्षिण ऐशिया में इसरो एक बडा वरदान साबित हुआ। आज एक साथ 104 सेटेलाइट लांच कर अंतरिक्ष के क्षेत्र में अमेरिका तथा रूस के समकक्ष समर्थ परिस्थित में पहॅुंच चुके है।
श्री पाण्डेय ने कहा कि मानव कल्याण में हार्ट स्टंट जो लाखों रूपयों में मिलता था, आज वह 26 से 28 हजार रूपये में मिल रहा है, नीम प्लांट जो कि आम आदमी के लिए कठिन था उसके 70 प्रतिशत तक के दाम में भी कमी की गई। ऐसे अनेको उदाहरण मोदी सरकार ने पेश किये है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, स्वायल हेल्थकार्ड ये दो योजनाएं कृषि क्षेत्र में दो गुनी आय के लिए बड़ा क्रान्तिकारी कदम है। पूरे देश में यूरिया की मारामारी होती थी, उत्तर पूर्व पश्चिम भारत में लाइनें लगती थी लेकिन मोदी जी के छोटे से प्रयोग नीमकोटिंग से यूरिया का दुरूयोग बंद हुआ। सरकार ने कई नीतिगत निर्णय भी लिए, जिसमें तीन तलाक पर विधेयक पारित कराकर उस पर कानून बनाकर कट्टपंथी की सोच को सोचने पर विवश किया आज वह अपने पाठ्यक्रमों में भी बदलाव करने जा रहे है कि तीन तलाक में पहले से प्रशिक्षत करें ताकि तीन तलाक की परिस्थितियां उत्पन्न न हो यह मोदी जी की अगुवाई में भारत के 72 वर्ष के लोकतंत्रिक यात्रा में एक नैतिक विजय है।

प्रदेश अध्यक्ष श्री पाण्डेय ने कहा कि ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा देने के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है इसकी सार्थक पहल जारी है। टैक्स में मध्यवर्गीय समाज को 20 लाख तक ग्रेच्युटी में कर छूट दी गई। उन महिलाओं के लिए जिनका कोई नहीं है उनके लिए स्वआधार योजना जो कि कुछ ही दिनों पूर्व प्रारम्भ हुई जिसमें 17 हजार महिलाओं को लाभ मिला।

डॉ० पाण्डेय ने आगे बताया कि भारत में पूर्ववती सरकारों द्वारा स्वच्छता की कई छोटी मोटी पहले शुरू हुई थी। जो मात्र प्रचार प्रसार तक स्वच्छता मिशन सीमित रह जाता था। मोदी जी ने लाल किले से शौचालय निर्माण की बात की तो कुछ लोग मजाक बनाते थे। आज मोदी जी की दृढ इच्छाशक्ति से देश के 10 राज्य ओडीएफ मुक्त हो चुके हैं और उत्तर प्रदेश भी योगी जी के नेतृत्व में ओडीएफ मुक्त राज्य बनने की ओर अग्रसर है। उन्होने आगे मोदी जी 4 साल के शानदार कार्यो को गिनाते हुए बधाई दी तथा भारत की जनता को विशेष रूप से बधाई का हकदार बताया तथा कहा कि यह सरकार जनकाक्षाओं की सरकार है तथा 2022 तक नए भारत के निर्माण के संकल्प को लेकर हमारी सरकार आगे बढ रही है।

योगी जी 4 वर्ष के सफलतम कार्यकाल के अवसर पर पत्रकारों द्वारा योगी जी स्वागत करते हुए कहा कि उपलब्धियों से हुआ देश के विश्वास के प्रतीक के रूप में मजबूती के साथ उभरते हुए प्रदेश के यशस्वी प्रधानमंत्री आदरणीय नरेन्द्र मोदी जी केा उत्तर प्रदेश की जनता की तरफ से 4 वर्ष के सफलतम कार्यकाल के लिए हृदय से बधाई दी तथा शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने वहा कि भारत दुनिया की आर्थिक महाशक्ति के रूप मे तेजी से अग्रसर होगा इसका हम सबको विश्वास है। उन्होंने कहा कि 4 वर्ष पूर्व जब देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ मोदी जी ने ली थी उस वक्त देश के अन्दर एक अविश्वास का वातावरण था, असुरक्षा का वातावरण था, भ्रष्टाचार चरम पर थी, देश की सीमाएं असुरक्षित थी, और देश का एक बहुत बडा भू-भाग नक्शली हिंसा की चपेट में था, नौजवानों में हताशा थी, किसान आत्म हत्या कर था, इस देश में सामाजिक न्याय के नाम पर सामाजिक विघटन कांग्रेस के नेतृत्व में उनके सहयोगी दलों के द्वारा समाज के ताने बाने को छिन्न विभिन्न करने का प्रयास किया गया था। उन परिस्थितियों में नरेन्द्र मोदी जी ने प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी। उन्होंने शपथ लेते ही यह स्पष्ट कहा था कि हमारी सरकार 125 करोड़ देशवासियों के लिए समर्पित होंगी। गांव, गरीब, किसान, नौजवान और महिलाएं पहली बार जाति, मत, मजहब से उपर उठकर किसी सरकार के एंजेण्डे के हिस्से बने थे और उन सभी को ध्यान रखकर योजनाएं बनाई गई। कालेधन के खिलाफ एसआईटी का गठन किया गया जिसमें भ्रष्टाचार व आंतकवाद पर कड़ प्रहार करने की कडी में नोटबंदी जैसे कडे़ फैसले लिए गए।

मुख्यमंत्री योगी जी ने कहा कि इस देश में एक प्रधानमंत्री एक समय अपनी लाचारगी दिखा चुके थे कि भारत सरकार अगर 100 रूपये भेजती है तो नीचे तक मात्र 10 रूपये ही पहुँच पाता है, 90 रूपये की जो लीकेज थी उसकी रोकथाम के लिए कांग्रेस ने अपनी लाचारगी दिखाई थी लेकिन पहली बार यशस्वी प्रधानमंत्री के रूप में यह घोषणा की कि अगर हम 100 रूपये भेजेंगे तो 100 रूपये निचले स्तर तक अवश्य पहॅुंचेगा । जिसके लिए उन्होंने टैक्नोलॉजी का उपयोग कर डीबीटी के माध्यम से धनराशि को गरीबों, किसानों तथा समाज के अन्तिम व्यक्ति तक पहुंचाने का काम किया। उन्होंने कहा कि जनधन योजना आयुष्मान भारत योजना जैसे एक सौ से अधिक योजनाओं के माध्यम से समाज कल्याण के लिए जाति मत मजहब से उपर उठकर किसानों, नौजवानों, महिलाओं के उत्थान के लिए निरन्तर काम कर रही है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना जिससे पूरे देश में एक अप्रैल 2016 के 61.9 प्रतिशत की तुलना में 1 अप्रैल 2018 को बढकर 80.9 प्रतिशत हो गया है। आज करोड़ महिलाएं अपने घर में स्वच्छ ईधन का इस्तेमाल कर सकने में समर्थ हैं, स्वच्छ भारत अभियान में 3 अप्रैल 2018 तक देश के 3.44 लाख गांव, 360 जिले, 15 राज्य व तीन केन्द्र शासित राज्य खुले में शौच से मुक्त हो चुके।

मुख्यमंत्री योगी जी ने कहा कि मोदी जी की जन स्वीकार्यता की वजह उनके व्यक्तित्व भ्रष्टाचार तथा सत्ता जनित दोषो से परे है। हम कह सकते है कि केन्द्र सरकार के 4 वर्षो का कार्यकाल भारत के नवउत्कर्ष का कार्यकाल है, भारत का नवउत्कर्ष जिसमें योजनाओं का लाभ देश के हर तबके तक समान रूप से देने का कार्य हुआ हैं, चार वर्षो की केन्द्र सरकार का यह कार्यकाल 4 वर्ष के उत्कृष्टतम शासन काल की श्रेणी में रखा जाएगा। यह तभी सम्भव हो पाया क्योंकि शासन करता कत्र्ता की नियत साफ थी दृष्टि स्पष्ट थी और एक सही दिशा थी उसी का परिणाम है कि साफ नियत से सही विकास, इसी की परिणति है कि चार वर्ष विश्वास के है, विकास के है तथा नवउत्कर्ष के है।