उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक जी ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जी भारत के महान सपूत हैं। उन्होंने कहा कि देश के स्वाधीनता संग्राम का नेतृत्व महात्मा गांधी ने किया और शास्त्री जी ने इसमें सक्रिय योगदान दिया। साथ ही, प्रधानमंत्री के रूप में उन्होंने देश को अपने स्वाभिमान की रक्षा करना भी सिखाया। अनाज संकट से निपटने के लिए उन्होंने देश के लोगों को उपवास करने के लिए प्रेरित किया।

राज्यपाल जी ने यह विचार आज यहां गांधी जयन्ती के अवसर पर विधान भवन स्थित तिलक हाॅल में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि गांधी जी ने स्वराज्य पाने के लिए संघर्ष किया, जिसमें स्वदेशी और स्वावलम्बन का विशेष योगदान था।
राज्यपाल जी ने कहा कि वर्तमान सरकार इन दोनों सपूतों द्वारा स्थापित किए गए स्वाधीनता, स्वदेशी, स्वाभिमान जैसे मूल्यों को अपनाते हुए प्रदेश को विकास के रास्ते पर आगे ले जा रही है। गांधी जी स्वच्छता के प्रबल समर्थक थे। वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश में स्वच्छता को लेकर अभियान चला रही है, जिसके परिणाम आज सामने हैं। प्रदेश के कई जनपदों और गांवों को खुले में शौचमुक्त घोषित किया जा चुका है। भविष्य में पूरे प्रदेश को ओ0डी0एफ0 करने की दिशा में काम चल रहा है। उत्तर प्रदेश में परिवर्तन लाने का काम चल रहा है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि गांधी जी ने स्वदेशी के माध्यम से स्वाधीनता आन्दोलन को दिशा दी। एक सामान्य से दिखने वाले आदमी ने अंगे्रजों के साम्राज्य को हिला डाला और भारत को स्वतंत्रता दिलवायी। उस समय यह पूरे विश्व के लिए कौतूहल का विषय था। उन्होंने अपने भजनों के माध्यम से समाज में नवचेतना का संचार किया। स्वदेशी का मंत्र देकर गांधी जी ने पूरे भारत को एकता के सूत्र में पिरो दिया।

योगी जी ने कहा कि गांधी जी स्वच्छता को बहुत महत्व देते थे। उनके दिखाए रास्ते को अपनाते हुए राज्य सरकार द्वारा पूरे प्रदेश में स्वच्छता का अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भी स्वच्छ भारत का संकल्प लिया है। राज्य सरकार इस संकल्प की पूर्ति के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश को खुले में शौचमुक्त किए जाने की दिशा में कार्य चल रहा है। उन्होंने इस अवसर पर मेरठ और गौतमबुद्धनगर जनपदों को ओ0डी0एफ0 घोषित करते हुए कहा कि अब तक प्रदेश के 06 जनपदों को ओ0डी0एफ0 घोषित किया जा चुका है।

राज्य सरकार ने गंगा जी के किनारे बसे 25 जनपदों के 1627 ग्रामों को खुले मंे शौच मुक्त कराया है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता को अपने जीवन का मिशन बनाना होगा। जब समाज के सभी लोग इससे जुड़ेंगे तो यह एक जन आन्दोलन बन जाएगा। उन्होंने कहा कि ‘संकल्प से सिद्धि’ अभियान के माध्यम से हम देश को स्वच्छ बनाएंगे। इसी का प्रयोग करते हुए वर्ष 2022 तक हम पूरे देश से गरीबी, भ्रष्टाचार और आतंकवाद को मिटा देंगे।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत 9.7 लाख आवास उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार शहरी क्षेत्रों के लिए भी इस योजना के तहत लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि ये सभी लक्ष्य हासिल किए जाने की दिशा में कार्य चल रहा है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी द्वारा ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान में उल्लेखनीय योगदान करने वालों को सम्मानित भी किया गया। स्वच्छता हेतु जन सामान्य में व्यापक जागरूकता बढ़ाने, स्वयं के प्रयासों से ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में शौचालय निर्माण एवं खुले में शौच से मुक्त किए जाने की दिशा में उत्कृष्ट कार्य किए जाने के लिए कई जिलाधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारियों, जिला पंचायत अधिकारियों तथा स्वच्छाग्रहियों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर श्री बृजेश नारायण सिंह, जिलाधिकारी मेरठ श्री समीर वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी गौतमबुद्धनगर श्री अनिल कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी मेरठ श्रीमती अरायका अखौरी, जिला पंचायतराज अधिकारी गौतमबुद्धनगर श्री वीरेन्द्र सिंह सहित 30 लोगों को स्वच्छता को जन आन्दोलन के रूप में चलाने पर तथा इसमें महत्वपूर्ण योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

इससे पूर्व, राज्यपाल श्री राम नाईक जी और मुख्यमंत्री
योगी आदित्यनाथ जी ने कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने के उपरान्त राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
कार्यक्रम का शुभारम्भ राष्ट्रगीत ‘वन्दे मातरम’ के गायन से हुआ। इसके पश्चात् महात्मा गांधी के प्रिय भजन ‘वैष्णव जन तो तेने कहिए, जो पीर पराई जाने रे’ एवं राम धुन ‘रघुपति राघव राजा राम’ प्रस्तुत की गयी। इस दौरान महात्मा गांधी के जीवन आदर्शों व शिक्षाओं को भी याद किया गया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान से हुआ।
कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, नगर विकास मंत्री श्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।